Home » छत्तीसगढ़ » सरकार जब जैसे चाहे मेरी संपत्ति की जांच करा ले: बघेल

सरकार जब जैसे चाहे मेरी संपत्ति की जांच करा ले: बघेल

👤 admin5 | Updated on:2017-05-08 11:38:03.0
Share Post

वीर अर्जुन संवाददाता

रायपुर। राज्य सरकार के पास यह अधिकार है कि वो जैसे चाहे और जब चाहे जांच करवा सकते हैं। मैं मुख्यमंत्री से अनुरोध करता हूं और साथ ही उन्हें खुली चुनौती भी देता हूं कि वो मेरी संपत्ति की जिस तरह से चाहे जांच करवा ले लेकिन उनके परिजनों को परेशान करने की राजनीति न करें।

उक्प बातें आज कांग्रेस भवन में आयोजित एक पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए पदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कही। श्री बघेल ने कहा कि राज्य गठन के बाद इन
17 सालों में कई बार उनकी जमीनें नाप ली गई, उनके मकान के कागजातों की जांच कर ली गई लेकिन जांच में कुछ भी नहीं मिला। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार चाहे तो एक बार फिर से जांच करवा ले ताकि मुख्यमंत्री के अभिन्न मित्र संतुष्ट हो जाएं और वे जनता के मुद्दों पर भी कुछ बात कर लें। श्री बघेल ने कहा कि यह कोई मुद्दा नहीं है बल्कि मुख्यमंत्री डा
. रमन सिंह और उनके अभिन्न मित्र पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की राजनीतिक झुंझलाहट है। श्री बघेल ने कहा कि वे जब भी पदेश के ज्वलंत मुद्दों पर राज्य सरकार पर आरोप लगाते हैं तो उनके अभिन्न मित्र को उनकी संपत्ति का ध्यान आता है। उन्होंने कहा कि राज्य में हुए भ्रष्टाचार
, घोटाले और ज्वलंत मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के आरोप लगाए जाते हैं। श्री बघेल ने कहा कि उन्होंने श्री जोगी के जाति को लेकर, अंतागढ़ टेपकांड को लेकर
, नॉन घोटाले को लेकर, खदानों को बेचे जाने को लेकर, धान खरीदी-बोनस को लेकर, कमीशनखोरी को लेकर और पदेश के अन्य ज्वलंत मुद्दों को लेकर राज्य सरकार से सवाल पूछे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लगातार आंदोलन से अब राज्य सरकार और उसके मुखिया के साथ ही उनके अभिन्न मित्र झुंझलाहट में आ गए हैं। श्री बघेल ने कहा कि पहले शराब बेचकर
1500 करोड़ के कमीशन का मामला था, लेकिन अब तो स्वयं मुखिया ने भी स्वीकार कर लिया है कि उनकी पूरी सरकार पिछले 13 सालों से कमीशनखोरी में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पदेश भर में 10 हजार नुक्कड़ सभाएं करवाने का ऐलान किया था।

Share it
Top