Top
Home » छत्तीसगढ़ » अम‍ित जोगी पर छानबीन सम‍ित‍ि ने द‍िए एफआईआर के न‍िर्देश, अम‍ित ने कहा कात‍िल ही मुनस‍िफ तो क्‍या मेरे हक में फैसला देगा

अम‍ित जोगी पर छानबीन सम‍ित‍ि ने द‍िए एफआईआर के न‍िर्देश, अम‍ित ने कहा कात‍िल ही मुनस‍िफ तो क्‍या मेरे हक में फैसला देगा

👤 manish kumar | Updated on:17 Oct 2020 11:39 AM GMT

अम‍ित जोगी पर छानबीन सम‍ित‍ि ने द‍िए एफआईआर के न‍िर्देश, अम‍ित ने कहा कात‍िल ही मुनस‍िफ तो क्‍या मेरे हक में फैसला देगा

Share Post

रायपुर। मरवाही उपचुनाव को लेकर राजनीत‍िक हलचल तेज हो गई है। वहीं दूसरी तरफ जनता कांग्रेस छत्‍तीसगढ़ (जोगी) के अध्यक्ष अमित जोगी के खिलाफ जांच समिति ने एफआईआर के आदेश दे दिए हैं। उनके खिलाफ फर्जी जाति प्रमाणपत्र के आधार पर विधायक बनने के लिए एफआईआर दर्ज किया जाएगा। इससे पहले उच्चस्तरीय छानबीन समिति के अनुशंसा पर अमित के जाति प्रमाण पत्र को निरस्त कर दिया गया है।

इस खबर के सामने आने के बाद अमित जोगी ने ट्वीट कर कहा कि रातों-रात उच्चस्तरीय जाति छानबीन समिति ने मेरा प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया। इसकी खबर मुझको छोड़कर शेष सभी को थी। मैंने उसे पढ़ने के लिए समय मांगा, वो भी नहीं दिया। उन्होंने कहा कि कातिल ही मुनसिफ है, क्या मेरे हक में फैसला देगा। बताते चलें क‍ि अम‍ित जोगी की पत्‍नी का जात‍ि प्रमाणपत्र पहले ही छानबीन सम‍ित‍ि ने न‍िलंब‍ित कर द‍िया है। वहीं शुक्रवार को अम‍ित जाेगी ने मारवाही उपचुनाव के ल‍िए अपना नामांकन द‍ाख‍िल क‍िया था। ज‍िसे शन‍िवार को छानबीन सम‍ित‍ि ने न‍िरस्‍त कर द‍िया है। अब अम‍ित जोगी उपचुनाव में ह‍िस्‍सा नहीं ले सकेंगे।

इधर अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त होने के बाद संत कुमार नेताम ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आभार जताया और कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सत्य सामने लाया है। आगे भी फर्जी आदिवासि‍यों के विरुद्ध संघर्ष जारी रहेगा।


Share it
Top