Top
Home » छत्तीसगढ़ » प्रथम हाथीको लगाया गया कॉलर आईडी गिरा

'प्रथम हाथी'को लगाया गया कॉलर आईडी गिरा

👤 manish kumar | Updated on:13 Jun 2021 6:41 AM GMT

प्रथम हाथीको लगाया गया कॉलर आईडी गिरा

Share Post


रायगढ़। हाथी की निगरानी के लिए वन विभाग की टीम ने वाइल्ड लाइफ से अनुमति लेकर ट्रेंकुलाइज कर 'प्रथम हाथी' को कॉलर आईडी लगाया था, ताकि हाथी के लोकेशन की जानकारी मिल सके और स्थिति से आसपास के ग्रामीणों को आगाह किया जा सके, ताकि कोई जनहानि ना हो।

विभागीय अधिकारियों के मुताबिक पहली बार छत्तीसगढ़ की टीम ने ही 'प्रथम हाथी' को ट्रेंकुलाइज कर कॉलर आईडी लगाया था। लेकिन अब प्रथम हाथी को लगाया गया कॉलर आईडी धरमजयगढ़ वन मंडल के छाल वन परिक्षेत्र अंतर्गत लोटान बीट के कटाई पाली गांव के जंगल के पास कक्ष क्रमांक 496 आरएफ में पड़ा हुआ मिला है।

इस संबंध में छाल वन परिक्षेत्र अधिकारी राजेश कुमार चौहान ने हिंदुस्थान समाचार को बताया कि हो सकता है कि आम या कटहल वगैरह खाते समय पेड़ की डाल में फंसकर कॉलर आईडी टूट कर गिर गया हो, कॉलर आईडी के गिरने की वजह से अब 'प्रथम हाथी' का लोकेशन मिल पाना मुश्किल होगा। जिसके कारण ग्रामीणों के जान माल की सुरक्षा के मद्देनजर उन्हें सतर्क रहने की हिदायत दी जा रही है। उन्होंने कहा कि चूंकि प्रथम हाथी ज्यादा उग्र स्वभाव का नहीं है इसलिए ज्यादा खतरे की बात नहीं है फिर भी मैदानी अमले, हाथी मित्र दल के सदस्यों व फॉरेस्ट स्ट्राइक फोर्स के माध्यम से लगातार प्रथम हाथी का लोकेशन प्राप्त करने का प्रयास और उस पर निगरानी रखने की कवायद लगातार जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि वर्षा ऋतु के बाद वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार ही फिर से प्रथम हाथी को कालर आईडी लगाने का प्रयास किया जाएगा।


Share it
Top