Top
Home » छत्तीसगढ़ » महासमुंद: हाथी के हमले से दो ग्रामीणों की मौत

महासमुंद: हाथी के हमले से दो ग्रामीणों की मौत

👤 Veer Arjun | Updated on:13 Sep 2021 6:35 AM GMT

महासमुंद: हाथी के हमले से दो ग्रामीणों की मौत

Share Post

महासमुंद: हाथी के हमले से दो ग्रामीणों की मौत

महासमुंद / रायपुर । छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में रविवार की देर रात हाथियों ने दो लोगों को मौत के घाट उतार दिया। हादसे से क्षेत्र में दहशत का माहौल है। घटना जिले के ग्राम गौरखेड़ा और झालखम्हरिया की है।

वन विभाग के कर्मचारियों से मिली जानकारी के अनुसार महासमुन्द शहर के वार्ड आठ निवासी राजू विश्वकर्मा (52) अपने दो अन्य साथियों के साथ जंगल में स्थित दर्शनीय स्थल महादेव पठार गए थे। जहाँ से बाइक से वापस शहर लौट रहे थे। इस दौरान ग्राम गौरखेड़ा के पास रात्रि करीब नौ बजे मोटरसाइकिल के सामने हाथी आ धमका। हड़बड़ी में राजू बाइक से गिर गया। उसके दो साथी वहां से जान बचाकर बाइक से भाग निकले। हाथी ने राजू को कुचलकर मार डाला। आसपास के लोगों की सूचना पर वन विभाग के अधिकारी घटना स्थल पहुँचकर आसपास के गांवों में अलर्ट घोषित कर ही रहे थे कि इसी बीच खबर मिली कि हाथी गौरखेड़ा से आगे बढ़कर तीन किलोमीटर दूर झालखम्हरिया गांव पहुंच गया है। वहां खेत में लगाए गए मूंगफली फसल की रखवाली कर रहे तीस वर्षीय युवा किसान परमेश्वर कमार पर हमला कर दिया। इससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। एक रात में दो घंटे के अंतराल में दो ग्रामीण को हाथी के कुचलने से मौत से क्षेत्र के लोगों में भारी दहशत है।

हाथी भगाओ फसल बचाओ समिति सिरपुर के संयोजक राधेलाल सिन्हा ने ग्रामीणों और किसानों से अपील की है कि दंतैल पहले की अपेक्षा ज्यादा आक्रमक हो गया है। कभी भी, कहीं भी पहुंचकर हिंसक घटनाओं को अंजाम दे रहा है। क्षेत्र में एक सप्ताह के भीतर यह तीसरी घटना है। अतः सूर्यास्त के बाद और सूर्योदय के पहले जंगली रास्तों में न जाये ।(हि.स.)

Share it
Top