Home » वाणिज्य » थोक महंगाई दर अप्रैल में 13 महीने के उच्चतम स्तर 1.26 फीसदी पर

थोक महंगाई दर अप्रैल में 13 महीने के उच्चतम स्तर 1.26 फीसदी पर

👤 mukesh | Updated on:14 May 2024 9:10 PM GMT

थोक महंगाई दर अप्रैल में 13 महीने के उच्चतम स्तर 1.26 फीसदी पर

Share Post

नई दिल्ली (New Delhi)। महंगाई (Inflation) के र्मोचे पर आम जनता (General Public) को झटका देने वाली खबर है। थोक महंगाई दर (Wholesale inflation) अप्रैल (April) महीने में सालाना आधार (Annual basis) पर उछलकर 13 महीने के उच्चतम स्तर (13-month high) 1.26 फीसदी (Jumped 1.26 percent) पर पहुंच गई है।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने मंगलवार को जारी आंकड़ों में बताया कि खाने-पीने की चीजों की कीमत बढ़ने से थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित थोक महंगाई दर अप्रैल महीने में 1.26 फीसदी रही है। इससे पहले मार्च 2023 में थोक महंगाई दर 1.34 फीसदी थी। पिछले महीने मार्च में 0.53 फीसदी थी, जबकि फरवरी महीने में 0.20 फीसदी और जनवरी में 0.27 फीसदी रही थी।

मंत्रालय ने यहां जारी एक बयान में बताया कि अप्रैल महीने में थोक मुद्रास्फीति में बढ़ोतरी की मुख्य वजह खाद्य वस्तुओं, बिजली, कच्चे पेट्रोलियम तथा प्राकृतिक गैस, खाद्य उत्पादों के निर्माण, अन्य विनिर्माण आदि की कीमतों में वृद्धि रही है। आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल में खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर बढ़कर 7.74 फीसदी हो गई, जो मार्च महीने में 6.88 फीसदी रही थी।

वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक सब्जियों की महंगाई दर अप्रैल में 23.60 फीसदी रही, जो मार्च में 19.52 फीसदी थी। इसी तरह ईंधन और बिजली की थोक महंगाई अप्रैल में 1.38 फीसदी रही, जो मार्च में -0.77 फीसदी रही थी। गौरतलब है कि अप्रैल में खुदरा महंगाई दर घटकर 11 महीने के निचले स्तर 4.83 फीसदी पर आ गई है।

Share it
Top