Top
Home » वाणिज्य » महामारी के चलते सुधार कार्यक्रमों से भारत की मध्‍यावधि वृद्धि को मिल सकता है बढ़ावा: फिच

महामारी के चलते सुधार कार्यक्रमों से भारत की मध्‍यावधि वृद्धि को मिल सकता है बढ़ावा: फिच

👤 mukesh | Updated on:20 Nov 2020 11:16 AM GMT

महामारी के चलते सुधार कार्यक्रमों से भारत की मध्‍यावधि वृद्धि को मिल सकता है बढ़ावा: फिच

Share Post

नई दिल्‍ली। वैश्विक रेटिंग एजेंसी फिच रेटिंग्‍स ने कहा कि कोविड-19 के चलते सरकार द्वारा लागू सुधार के एजेंडे से भारत की मध्यावधि वृद्धि को बढ़ावा मिल सकता है। एजेंसी ने कहा कि मध्यम अवधि में वृद्धि दर के लिए निवेश को बढ़ावा देने व उत्‍पादकता बढ़ाने के लिए सुधारों की जरूरत होगी। हालांकि, फिच ने कहा कि यह आकलन करने में वक्‍त लगेगा कि क्या सुधारों को प्रभावी ढंग से लागू किया गया है।

रेटिंग्‍स एजेंसी ने शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा कि कोविड-19 महामारी के प्रकोप के चलते सरकार के सुधार एजेंडे की वापसी से भारत की मध्यावधि वृद्धि को बढ़ावा मिल सकता है। 'फिच रेटिंग्स का मानना है कि इसके बावजूद वृद्धि को घटाने के दबाव बने हुए हैं। इसका आकलन करने में वक्‍त लगेगा कि क्या सुधारों को प्रभावी ढंग से लागू किया गया है।'

फिच रेटिंग्‍स ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते मध्यम अवधि में वृद्धि धीमी हो जाएगी, क्योंकि कंपनी के बही खातों को पहुंचा नुकसान वर्षों तक निवेश को प्रभावित कर सकता है। (एजेंसी, हि.स.)

Share it
Top