Top
Home » संपादकीय » संघर्ष पथ पर तपकर बने दक्षिण के नायक

संघर्ष पथ पर तपकर बने दक्षिण के नायक

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:30 May 2019 7:11 PM GMT
Share Post

लोकसभा चुनाव नतीजों की इतनी धूमधाम थी कि इसमें उन चार राज्यों की विधानसभाओं के नतीजों की आवाज मंद पड़ गई। इनमें भी आंध्र प्रदेश और ओडिशा के नतीजे काफी कुछ ऐसा कह गए जिसे सुना जाना जरूरी है। यह दोनों राज्य ऐसे रहे जहां मोदी मैजिक नहीं चला। लोकसभा में भाजपा की भारी जीत के समानांतर आंध्र प्रदेश, अरुणाचल और सिक्किम में हुए विधानसभा चुनावों में कुछ नए सितारे चमके हैं, कुछ ने अपना करिश्मा बरकरार रखा है तो कुछ तो पुराने सितारे अस्त भी हो गए हैं। उदाहरण के लिए आंध्र प्रदेश में जगनमोहन रेड्डी के नेतृत्व में वाईएसआर कांग्रेस ने लोकसभा की 22 सीटों पर कब्जा जमाने के अलावा विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ तेलुगूदेशम पार्टी का सूपड़ा साफ कर भारी बहुमत हासिल किया है, जो विभाजित आंध्र में बड़ी जीत है। इस सियासी उथल-पुथल में वाईएसआर कांग्रेस मुखिया जगनमोहन रेड्डी दक्षिण की राजनीति में नए और युवा चेहरे के रूप में उभरे हैं। भाजपा के खिलाफ देशव्यापी मोर्चा खोलने वाले चंद्रबाबू नायडू की पार्टी टीडीपी को आंध्र प्रदेश में लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा चुनावों में करारी शिकस्त देकर जगनमोहन रेड्डी ने सियासत में अपना कद बड़ा कर लिया है। जगनमोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने 175 विधानसभा सीटों में से 152 और 25 लोकसभा सीटों में से 22 सीटें जीती हैं। डीएमके के बाद वाईएसआर कांग्रेस दक्षिण की दूसरी सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बन गई है। 46 वर्षीय जगनमोहन रेड्डी के लिए साल 2009 किसी दुस्वप्न की तरह था। इसी साल उनके सीएम पिता वाईएसआर राजशेखर रेड्डी ने एक हेलीकॉप्टर हादसे में उनका साथ छोड़ा तो कांग्रेस ने भी उन्हें मझधार में छोड़ दिया लेकिन जगनमोहन रेड्डी ने हिम्मत नहीं हारी। जगनमोहन रेड्डी की सफलता में रणनीतिकार प्रशांत किशोर और उनकी भारतीय राजनीतिक एक्शन कमेटी टीम का प्रमुख योगदान है। चार दशक के राजनीतिक कैरियर में एन. चंद्रबाबू नायडू ने हमेशा पैंतरा बदला। कांग्रेस विधायक रहे, फिर ससुर एनटीआर की पार्टी टीडीपी में तख्ता पलटकर पार्टी और सीएम की कुर्सी पर कब्जा किया। अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में राजग में आए। 2014 में फिर राजग का दामन थामा। 2018 में साथ छोड़कर अचानक भाजपा विरोधी मोर्चे के गठन में लग गए। मगर नतीजे ने उनकी सियासी कैरियर पर सवाल खड़ा कर दिया। तमिलनाडु की राजनीति के दो ध्रुव जयललिता (अन्नाद्रमुक) और एम. करुणानिधि (द्रमुक) की मौत के बाद राज्य में नेतृत्व शून्यता का दौर शुरू हो गया था। अन्नाद्रमुक कई धड़ों में बंट गई, लेकिन एमके स्टालिन ने पारिवारिक जंग से पार पाते हुए चुनाव से पहले कांग्रेस-वाम दलों के साथ एक मजबूत गठबंधन भी खड़ा कर लिया। चुनाव में जबरदस्त जीत से स्टालिन का सियासी कद अचानक बढ़ गया। ढाई साल पहले केरल की सत्ता संभालने वाले माकपा के पिनराई विजयन के सामने वाम किले की नींव मजबूती देने की चुनौती थी। पश्चिम बंगाल व त्रिपुरा में आधार खत्म होने के बाद लोकसभा चुनाव में वाम दलों की उम्मीद बस इसी राज्य पर टिकी थी। मगर विजयन बीते चुनाव से बड़ा प्रदर्शन करने की बजाय वाम मोर्चा का राज्य में बस खाता ही खुलवा सके।

 चीन : कोरोना वायरस के असर से हजारों कंपनियों पर कर्ज का संकट

चीन : कोरोना वायरस के असर से हजारों कंपनियों पर कर्ज का संकट

बीजिंग । कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच बढ़ते कर्ज संकट ने चीन की कंपनियों को बहुत प्रभावित किया है। चीन की छोटी और मझोली कंपनियां मजदूरों और माल के...

 अमेरिका : ट्रम्प के फिर जीतने के आसार, 49 प्रतिशत लोगों की पसंद बने

अमेरिका : ट्रम्प के फिर जीतने के आसार, 49 प्रतिशत लोगों की पसंद बने

वाशिंगटन । डोनाल्ड ट्रम्प की लोकप्रियता की रेटिंग इस चुनावी वर्ष के महत्वपूर्ण समय में सुधर रही है। इससे व्हाइट हाउस के लिए ट्रम्प के दूसरा कार्यकाल...

 इजराइल का गाजा और सीरिया में जिहादी ठिकानों पर हमला

इजराइल का गाजा और सीरिया में जिहादी ठिकानों पर हमला

येरुसलम । इजरायली सेना ने कहा है कि उसने रॉकेट हमलों के जवाब में गाजा और सीरिया में एक फिलिस्तीनी आतंकवादी समूह के खिलाफ हवाई हमले शुरू किए हैं।...

 चीन में मरनेवालों की संख्या हुई 2663, संक्रमितों की संख्या 77 हजार से अधिक

चीन में मरनेवालों की संख्या हुई 2663, संक्रमितों की संख्या 77 हजार से अधिक

बीजिंग । चीन में कोरोना वायरस से मरनेवालों की संख्या बढ़कर 2663 हो गई है। साथ ही 77,658 मामले सामने आने की पुष्टि हुई है, जबकि 27,200 लोग रिकवर हो...

 राष्ट्रपति भवन में कोविंद और मोदी ने डोनाल्ड ट्रम्प का स्वागत किया, राजघाट पहुंचकर दी महात्‍मा गांधी को दी श्रद्धांजलि

राष्ट्रपति भवन में कोविंद और मोदी ने डोनाल्ड ट्रम्प का स्वागत किया, राजघाट पहुंचकर दी महात्‍मा गांधी को दी श्रद्धांजलि

नई दिल्‍ली। दो दिवसीय दौरे पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का मंगलवार को राष्ट्रपति भवन में जोरदार स्वागत किया गया। उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर भी...

Share it
Top