Top
Home » संपादकीय » शराब की दुकान खोलने का काम रुका

शराब की दुकान खोलने का काम रुका

👤 Veer Arjun | Updated on:13 Jan 2022 5:09 AM GMT

शराब की दुकान खोलने का काम रुका

Share Post

—अनिल नरेन्द्र

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली में शराब की नईं दुकानें खोलने का सिलसिला थम गया है। राजधानी में अभी तक करीब 515 शराब की दुकानें ही संचालित हो पाईं हैं बाकी करीब 100 दुकानों के सत्यापन का काम बढ़ते कोरोना के बीच रुक गया है। बताया जा रहा है कि आबकारी विभाग की टीम भी जिला प्राशासन के साथ कोरोना प्राोटोकॉल का पालन कराने में लगी है जिसके चलते नईं दुकानों के सत्यापन का काम रुक गया है। दिल्ली में अभी करीब 650 लाइसेंस आबंटित किए गए हैं लेकिन उनमें से करीब सवा सौ दुकानें भौतिक सत्यापन नहीं होने व दुकान खोलने को लेकर चल रहे विवाद की वजह से अटकी हुईं है। दिसम्बर के अंत तक दिल्ली सरकार ने जिला प्राशासन को निर्देश दिया था कि अब आबकारी विभाग के साथ मिलकर दुकानें खोलने में आ रही दिक्कत और भौतिक सत्यापन के काम को प्राथमिकता के साथ पूरा कराए। उसके बाद दिल्ली में तेजी से दुकानें खुलने का सिलसिला शुरू हुआ। जिसके बाद करीब डेढ़ सौ से दो सौ दुकानें खुल पाईं, लेकिन अब कोरोना ने फिर से परेशानी बढ़ा दी है।

नईं आबकारी नीति के तहत दिल्ली में 17 नवम्बर 2021 को राजधानी के 272 वार्डो में 849 दुकानें खुलीं थीं जिनमें प्रात्येक वार्ड के अंदर तीन दुकानें अनिवार्यं रूप से खोली जानी थीं। लेकिन दुकानें खोलने में तमाम सारी दिक्कतें आईं। दिल्ली कांग्रोस दिल्ली सरकार की आबकारी नीति का विरोध कर रही है। कईं स्थानों पर स्थानीय लोगों के विरोध में कईं दुकानें बंद भी करनी पड़ी हैं। काफी जगहों पर लोगों ने आवासीय क्षेत्र एवं स्वूल व धार्मिक प्रातिष्ठान के नजदीक बताकर विरोध किया। वुछ दुकानों को नियम विरुद्ध खोले जाने पर एनडीएमसी द्वारा सील कर दिया गया। इन्हीं कारणों के चलते 300 से अधिक दुकानें नहीं खुल पाईं। जबकि लाइसेंस जारी होने के बाद भी डेढ़ सौ दुकानें भौतिक सत्यापन न होने की वजह से अटकी हुईं हैं।

Share it
Top