Home » शिक्षा » डिजिटल इंडिया अभियान को नया मोड़ देगा स्वलेख एप

डिजिटल इंडिया अभियान को नया मोड़ देगा 'स्वलेख' एप

👤 Veer Arjun Desk | Updated on:29 Aug 2017 12:18 PM GMT

डिजिटल इंडिया अभियान को नया मोड़ देगा स्वलेख एप

Share Post

शिक्षा: भारत में एक बहुत बड़ा तबका है, जो अंग्रेजी में साक्षर है लेकिन इसके बावजूद अपनी मातृभाषा में बोलना पसंद करता है और साथ ही स्थानीय भाषाओं में कंटेंट हासिल करना चाहता है. लेकिन कई मामलों में उसके हाथ बंधे होते हैं. ऐसे सभी लोगों को 'स्वलेख' एप इन तमाम मुश्किलों से निजात दिलाएगा.डिजिटल इंडिया योजना के बाद से स्थानीय भाषाओं को ऑनलाइन उपलब्ध कराने पर काम किया जा रहा है, जिससे स्थानीय लोग स्थानीय भाषाओं में क्षेत्रीय कंटेंट का फायदा उठा सकें. ....

लोकलाईजेशन के बाद देश के विभिन्न हिस्सों से मोबाइल फोन तो ऑनलाइन जुड़ ही पाएंगे और साथ में, विभिन्न एप्स का इस्तेमाल करके अपनी स्वयं की भाषा में ऑनलाइन खरीद-फरोख्त कर पाएंगे. ....

स्थानीय कैशलेस अर्थव्यवस्था की बात करें तो यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) जैसे भीम एप को बढ़ावा दिया जा रहा है. बता दें कि पिछले साल टियर 2 शहरों में भी ई-कॉमर्स सेक्टर में विकास देखा गया है. ...

क्या है एप के फायदे

स्वलेख एप के जरिए स्थानीय भाषाओं का अनुभव मोबाइल पर भी लिया जा सकता है दूसरी तरफ स्थानीय स्क्रिप्ट या फोनेटिक रूप में भी टाइप करने की सुविधा मिल पाती हैं. इसकी कुछ विशेषताएं इस प्रकार हैं. पहला, इंडिक फोनबुक के माध्यम से भारतीय भाषाओं में कॉटेक्टस सेव कर सकते हैं. दूसरा, स्क्रीन लॉक जैसी सुविधा से उपभोक्ता अपनी पसंद की भाषा में डिवाइस को अनलॉक भी कर सकता है. इसके अलावा स्मार्टफोन के लिए रेवरी ने ओपन टाइप स्केलेबल फोंट की सुविधा भी दी है. स्वलेख भारत की 22 आधिकारिक भाषाओं में अलग-अलग स्क्रीन रिजॉल्यूशन के फीचर फोन के लिए निश्चित आकार के फोंट भी देता है. स्वलेख के यूजर्स अंग्रेजी स्क्रिप्ट में फोनेटिक रूप से टाइप कर सकते है और मूल भाषा में समझ सकते है. इस सुविधा के लिए इंटरनेट होने की आवश्यकता नहीं है, यह ऑफलाइन भी काम करता है. इस एप को भारतीय भाषाओं के सिद्धांतों पर बनाया गया है, इसलिए किसी भी प्रकार की शाब्दिक गलती से बचाता है ताकि कोई जंक फाइल ना बनें.

Tags:    
 इमरान सरकार के खिलाफ 31 अक्टूबर को निकलेगा आजादी मार्च

इमरान सरकार के खिलाफ 31 अक्टूबर को निकलेगा आजादी मार्च

इस्लामाबाद । पाकिस्तान में इमरान खान के नेतृत्व में बनी सरकार पर कथित चुनावी धांधली किए जाने का आरोप लगाते हुए 31 अक्टूबर को आजादी मार्च निकाला...

 पाकिस्तान में ऑक्सीजन की कमी से चार नवजातों की मौत

पाकिस्तान में ऑक्सीजन की कमी से चार नवजातों की मौत

इस्लामाबाद । पाकिस्तान के जकोबाबाद के थल जिले के एक निजी अस्पताल में शनिवार को इंक्यूबेटर में ऑक्सीजन की कमी के कारण चार नवजात (शिशुओं) की मौत हो गई।...

 विरोध प्रदर्शनों के चलते चिली में आपातकाल घोषित

विरोध प्रदर्शनों के चलते चिली में आपातकाल घोषित

सैनटियागो । चिली के राष्ट्रपति ने सैनटियागो में मेट्रो के टिकटों में बढ़ोतरी के विरोध में प्रदर्शनों के चलते शुक्रवार की रात को आपातकाल की घोषणा कर...

 आर्थिक तंगी के कारण सप्ताहअंत में बंद रहेगा संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय

आर्थिक तंगी के कारण सप्ताहअंत में बंद रहेगा संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय

संयुक्त राष्ट्र । आर्थिक संकट के कारण न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र (यूएन) मुख्यालय अब सप्ताह मे दो दिन शनिवार और रविवार को बंद रहेगा। यूएन ने...

 काबुल : अफगान सुरक्षा बलों ने 16 तलिबानी और आइएसआइएस आतंकियों को किया ढेर

काबुल : अफगान सुरक्षा बलों ने 16 तलिबानी और आइएसआइएस आतंकियों को किया ढेर

काबुल । अफगान सुरक्षा बलों ने अभियान चलाकर पिछले 24 घंटों में अफगानिस्तान के तीन प्रांतों में 16 तालिबानी और आइएसआइएस आतंकियों को ढेर कर दिया है। ...

Share it
Top