Top
Home » मनोरंजन » कुपोषित से सुपोषित भारत का लक्ष्य सबके प्रयासों से होगा हासिल: डा. मुंजपारा

कुपोषित से सुपोषित भारत का लक्ष्य सबके प्रयासों से होगा हासिल: डा. मुंजपारा

👤 Veer Arjun | Updated on:24 Sep 2021 12:46 PM GMT

कुपोषित से सुपोषित भारत का लक्ष्य सबके प्रयासों से होगा हासिल: डा. मुंजपारा

Share Post


गुरुग्राम। केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री डा. मुंजपारा महेन्द्र भाई ने कहा कि देश में कुपोषण के खतरे से निपटने के लिए सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास के उद्देश्य के साथ संयुक्त प्रयास करने की जरूरत है। तभी हम सुपोषित भारत के लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं। कुपोषण को कम करने को एक जन आंदोलन बनाने के लिए सभी स्तरों पर प्रयास किए जा रहे हैं। यह बात उन्होंने गुरुवार को यहां चौथे पोषण माह के अंतर्गत राज्य स्तरीय समारोह में कही।

देश में मनाए जा रहे चौथे पोषण माह के अंतर्गत गुरुग्राम में महिला एवं बाल विकास विभाग हरियाणा ने राज्य स्तरीय समारोह आयोजित किया। इस कार्यक्रम में पहुंचे केंद्रीय मंत्री डा. मुंजपारा महेन्द्र भाई ने आगे कहा कि इस वर्ष के समारोह को चार विषयगत सप्ताहों में विभाजित किया गया है, इनमें पोषणवाटिका का रोपण, पोषण के लिए आयुष और योग, पोषण किट का वितरण तथा गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों की पहचान के साथ साथ उनको पोषण सहायता प्रदान करना शामिल है।

डा. मुंजपारा महेन्द्र भाई ने कहा कि पोषण की स्थिति में स्थाई सुधार सुनिश्चित करने के लिए हमारे चारों ओर जो पोषण से भरपूर उत्पादों की बहुतायत है। उनका सही उपयोग करने को सभी लोगों को प्रेरित करना जरूरी है। डा. मुंजपारा ने कहा कि पोषण वाटिका की स्थापना यह सुनिश्चित करने की दिशा में कदम है कि आंगनवाडिय़ों, स्कूलों, ग्राम पंचायतों, सामुदायिक भूमि और सरकारी विभागों के परिसरों में पोषक उद्यान लगाकर महिलाओं और बच्चों को मौसमी फल, सब्जियां और जड़ी-बूटियां सस्ती उपलब्ध हों। पारंपरिक ज्ञान और आयुष की क्षमता का उपयोग समुदाय की बेहतरी के लिए किया जाए। (हि.स.)

Share it
Top