Top
Home » हरियाणा » नई भर्तियों के बाद पुराने कर्मियों को निकाल रहे ठेकेदार

नई भर्तियों के बाद पुराने कर्मियों को निकाल रहे ठेकेदार

👤 mukesh | Updated on:5 April 2021 12:22 PM GMT

नई भर्तियों के बाद पुराने कर्मियों को निकाल रहे ठेकेदार

Share Post

चंडीगढ़। हरियाणा सर्व कर्मचारी संघ ने विभिन्न सरकारी विभागों में काम करने वाले ठेकेदारों पर सफाई कर्मचारियों को नौकरी से निकालने का आरोप लगाते हुए प्रदेश के मंत्रियों के आवास का घेराव करने का ऐलान किया है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा व महासचिव सतीश सेठी ने बताया कि पिछले साल मुख्य सचिव ने सभी विभागों के प्रशासनिक सचिवों, सभी विभागाध्यक्षों, सभी बोर्डों, निगमों, नगर निगमों के प्रबंध निदेशकों व मुख्य प्रशासकों को पत्र भेजकर निर्देश दिए कि ठेकेदार बदल जाने की सूरत में पुराने सफाई कर्मचारियों को नौकरी से नहीं निकला जाएगा।

उन्होंने बताया कि मुख्य सचिव व श्रमायुक्त हरियाणा के लिखित आदेशों के बावजूद मार्किट कमेटी करनाल में 14-15 सालों से कार्यरत 22 सफाई कर्मचारियों को नौकरी से निकालकर नए कर्मचारियों को नौकरी पर लगा लिया। प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा ने बताया कि इससे पहले भी मुख्य सचिव के आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए ठेकेदारों ने अधिकारियों की मिलीभगत से कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड से 65 सफाई कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया है।

स्वास्थ्य विभाग में अभी हाल ही में यह काम जोरों पर चलने की शिकायतें लगातार आ रही है। इतना ही नहीं ठेकेदार ईपीएफ व ईएसआई की राशि की भी डकार रहे हैं और वेतन का एक हिस्सा ठेका कर्मचारियों से वापस ले रहे हैं। सकसं नेताओं ने मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव से सरकार के आदेशों की सख्ती से पालना करवाने और इसकी धज्जियां उड़ाने वाले अधिकारियों व ठेकेदारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग करते हुए कहा कि सरकार ने अगर इस मामले में कार्रवाई नहीं की तो कर्मचारी संघ द्वारा मंत्रियों के आवास का घेराव करते हुए संघर्ष तेज किया जाएगा।


Share it
Top