Top
Home » स्वास्थ्य » कौशाम्बी की खास पहचान बना लाल अमरूद, होते हैं पोषक तत्व

कौशाम्बी की खास पहचान बना लाल अमरूद, होते हैं पोषक तत्व

👤 manish kumar | Updated on:14 Nov 2019 4:48 AM GMT

कौशाम्बी की खास पहचान बना लाल अमरूद, होते हैं पोषक तत्व

Share Post

कौशाम्बी । देश-दुनिया में अपनी खासियत के कारण 'गरीबों का सेब' अर्थात अमरूद सेहत के साथ ही किसानों के लिए प्रमुख आमदनी का जरिया भी है। कौशाम्बी की बागों में पैदा होने वाला सेब की तरह सुर्ख लाल रंग का अमरूद लोगों के बीच आकर्षण के साथ ही स्वाद के लिए भी अपनी ओर आकर्षित करता है। कौशांबी और प्रयागराज की मिट्टी में पैदा होने वाले लाल गूदा वाला सेब देश-दुनिया में प्रसिद्ध है। यही कारण है कि दूर-दूर के व्यापारी यहां आकर बाग से ही अमरूद खरीद लेते हैं। इस वर्ष अच्छे फल के साथ ही अच्छी कीमत होने के कारण किसानों में खुशी है।

अमरूद के बाग मालिक आन्स मोहम्मद बताते हैं कि उन्होंने एक एकड़ में अमरूद की बाग़ लगाई है जिसमें सुरखा अमरूद के पेड़ ज्यादा हैं। उम्मीद है कि इस साल अच्छी पैदावार होने से सीजन में 8 से 10 लाख रुपये कमा लेंगे। जिला उद्यान विभाग ने भी कुछ इन्हीं कारणों से किसानों के बढ़ते रुझान के कारण 15 हेक्टेयर में सघन और 15 हेक्टेयर में सामान्य अमरुद की खेती सरकारी खर्च पर कराई है।

ख़ास माटी और वातावरण अमरूद को देता है सुर्ख लाल रंग

सबिया अमरुद के नाम से पहचाना जाने वाला यह अमरुद कौशाम्बी के कई इलाके में एक ख़ास वातावरण के कारण पैदा होता है। जैसे-जैसे सर्दी बढ़ती है, इन अमरूदों का रंग और अधिक सुर्ख हो जाता है। गंगा-यमुना व अदृश्य सरस्वती नदियों की माटी में मिलने वाले ख़ास पोषक तत्व अमरूद के रंग और चमक के लिए जिम्मेदार होते हैं। कृषि वैज्ञानिक डॉक्टर मनोज सिंह ने बताया कि इस क्षेत्र की बलुई दोमट मिट्टी में जल धारा निकासी की क्षमता अच्छी होती है, इस कारण अमरूद के पेड़ों को भरपूर पोषक तत्व मिल पाते हैं। मोन्ट-मोटिलाइट तत्व के कारण अमरूद का रंग सुर्ख लाल हो जाता है।

कहां है सबसे अधिक पैदावार

कौशाम्बी का सेबिया अमरूद खास तौर पर जिले के नेवादा, कड़ा, सिराथू, मूरतगंज और मंझनपुर ब्लाक के इलाको में सेबिया अमरुद की पैदावार अधिक है। इन ब्लाकों में भी सबसे अधिक पैदावार नेवादा ब्लाक के गांवों में होता है।

नई तकनीकी से बदलेगी अमरूद किसानों की किस्मत

जिला उद्यान विभाग की तरफ से सहयोग मिलने के कारण किसान अमरूद की खेती की तरफ रूख कर रहे हैं। उद्यान विभाग अमरुद की बागवानी नई तकनिकी से कराये जाने का प्रयास कर रहा है। यही कारण है कि तकरीबन 700 किसान परिवार खेती छोड़ अमरुद की बागवानी करने लगे हैं। विभाग अब किसानों की पैदावार को देखते हुए हाई डेस्टिंग प्लाटिंग के जरिये अमरुद खेती करने का मसौदा तैयार कर रहा है। इस नई तकनीक के जरिये एक हेक्टेयर में 1110 पौधे अमरुद के लगाये जा सकेंगे। ड्रिप सिंचाई से पानी की भी बचत की जा सकेगी।

अमरुद एक फायदे अनेक

अमरुद में एंटी आक्सीडेंट से भरपूर विटामिन सी, हाई कोलेस्ट्रोल से लड़ने वाला फाइबर, संक्रमण से लड़ने वाला विटामिन ए और सूरज की हानिकारक किरणों से त्वचा की रक्षा करने वाले लाइकोपीन जैसे फायदेमंद तत्व होते हैं। अमरुद प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में कारगर होता है। नियमित रूप से इसका सेवन करने से सामान्य मौसमी संक्रमण दूर करने में मदद मिल सकती है। जिला अस्पताल कौशाम्बी के मेडिकल अफसर डॉ. ज्ञानेंद्र सिंह भी बताते हैं कि संतरों से ज्यादा विटामिन सी अमरुद में होता है, जिससे श्वेत रक्त कणिकाओं को मजबूती मिलती है।

क्या कहते हैं अफसर

कौशाम्बी की इस खास पहचान को देश-दुनिया की बाज़ारों और अमरुद के कद्रदानों तक पहुंचाने की है। इसी के तहत जिले में 1000 हेक्टेयर में अमरूद की बागवानी कराई गई है। जिला अधिकारी मनीष वर्मा कहते हैं कि कौशाम्बी के अमरूद बाग मालिक दूसरे राज्यों के बाजार में सप्लाई करके ज्यादा आर्थिक फायदा उठा कर मालामाल हो सकते हैं। हिस

 कतर में कोरोना के कारण 3 अन्य मौतें, 1751 नए मामले दर्ज

कतर में कोरोना के कारण 3 अन्य मौतें, 1751 नए मामले दर्ज

नई दिल्ली । कतर के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार को कोरोना के कारण 3 अन्य लोगों की मौत और 1751 नए संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं।इसके बाद...

 यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक का चीन के प्रति मजबूत रणनीति का आग्रह

यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक का चीन के प्रति मजबूत रणनीति का आग्रह

नई दिल्ली। यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक ने चीन के प्रति 'अधिक मजबूत रणनीति' रखने का आह्वान किया है क्योंकि वह एशिया वैश्विक शक्ति के केंद्र के रूप में ...

 रूस में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 3,50,000 के पार हुई

रूस में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 3,50,000 के पार हुई

नई दिल्ली । रूस में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 8,946 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 353,427 हो गई है।...

 अब हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने चीन के कदमों को धोखा बताया

अब हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने चीन के कदमों को 'धोखा' बताया

नई दिल्ली । हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने कहा कि चीन ने अर्ध-स्वायत्त क्षेत्र पर नियंत्रण कड़ा करके शहर को धोखा दिया है।क्रिस पैटन ने टाइम्स ऑफ...

 कोरोनावायरस संकट के बाद पहली बार ट्रम्प गोल्फ कोर्स पहुंचे

कोरोनावायरस संकट के बाद पहली बार ट्रम्प गोल्फ कोर्स पहुंचे

नई दिल्ली । अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प कोरोनावायरस संकट शुरू होने के दो महीने बाद पहली बार गोल्फ खेलने के लिये गोल्फ क्लब पहुंचे। ट्रंप का...

Share it
Top