Top
Home » स्वास्थ्य » परफ्यूम से हो सकती है माइग्रेन की बीमारी

परफ्यूम से हो सकती है माइग्रेन की बीमारी

👤 manish kumar | Updated on:11 Jan 2020 6:33 AM GMT

परफ्यूम से हो सकती है माइग्रेन की बीमारी

Share Post

भागदौड़ की जिदंगी में कई लोग ऐसे है जो नियमित रूप से परफ्यूम का इस्तेमाल करते है, पसीने की बदबू से निपटने के लिए यह सबसे अच्छा उपाय भी मानते है, जरा से स्‍प्रे में शरीर की सारी दुर्गंद निकल जाती है।

देश-विदेश के कई शोधकर्ताओं ने यह माना है कि परफ्यूम में घातक और अनहेल्दी केमिकल होते है। पसीना कम करने के लिए इस्तेमाल में लाए जाने वाले ख़ुशबूदार प्रोडक्ट पसीना आने की स्वाभाविक प्रक्रिया को रोकते है। इससे शरीर में आर्सेनिक, कैडमियम, लिड और मरकरी जैसे तत्व इकठ्ठा हो सकते है. जिससे शरीर को नुकसान होता है।

विशेषज्ञों ने दावा किया है कि रोजमर्रा के कामकाज में इस्तेमाल होने वाली चीजों में मौजूद रसायन या सुगंध से कई गंभीर बीमारियां होने का खतरा हो सकता है। सफाई वाले स्प्रे का रसायन फेफड़ों को नुकसान पहुंचाता है, तो इत्र समेत अन्य खुशबू वाले उत्पाद, पेंट और डिटरजेंट से माइग्रेन और कैंसर तक हो सकता है।

यहां तक कि एक अध्ययन के दौरान देखा गया कि खुशबू के प्रति संवेदनशील लोगों को आंखों में जलन, पानी आना, बंद नाक, सिरदर्द और अस्थमा की शिकायत देखी गई। कुछ अन्य गंभीर मामलों में मितली आने और त्वचा की समस्याएं देखने को मिली।

पिछले साल हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में हुए एक अन्य अध्ययन में विशेषज्ञों ने इत्र, खुशबू वाले उत्पाद या सफाई वाले रसायनों को माइग्रेन का कारक बताया था । विशेषज्ञों ने यह निष्कर्ष 500 लोगों के आंकड़ों के अध्ययन के बाद निकाला। इस अध्ययन में पाया गया कि लगभग 60 फीसदी मामलों में माइग्रेन का अटैक हुआ, जबकि 68 फीसदी मामलों में लोगों ने नाक और साइनस में परेशानी अनुभव की। यहां तक कि परफ्यूम शरीर की टॉक्सिफिकेशन की नेचुरल प्रोसेस को नुकसान पहुंचाते है। इससे आपको एलर्जी भी हो सकती है।

बाजार में खुशबू वाले परफ्यूम सेंसिटिव स्किन पर बुरा प्रभाव डालते हैं। अगर त्वचा में किसी तरह का रिएक्शन हो जाता है, तो आपको तुरंत डर्मेटोलॉजिस्ट से मिलने की सलाह दी जाती है।

 न्यूयॉर्क में अमेरिकी नौसेना के जहाज में हो रहा इलाज

न्यूयॉर्क में अमेरिकी नौसेना के जहाज में हो रहा इलाज

न्यूयॉर्क । अमेरिकी नौसेना का एक जहाज अस्पताल सोमवार को न्यूयॉर्क के बंदरगाह में पहुंच गया है। अमेरिका ने कोरोनावायरस महामारी के चरम से निपटने के लिए ...

 पाकिस्तान के विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन क्लासेस लेने के निर्देश

पाकिस्तान के विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन क्लासेस लेने के निर्देश

इस्‍लामाबाद। पाकिस्तान के विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन क्लासेस लेने के निर्देश दिए गए है।पाकिस्तान के हायर एजूकेशन कमीशन ने विश्वविद्यालयों और मान्यता...

 भूटान में आज से 21 दिन का क्वारनटीन घरों में रहने के सलाह

भूटान में आज से 21 दिन का क्वारनटीन घरों में रहने के सलाह

भूटान। भारत के पड़ोसी देश भूटान ने कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए (31 मार्च) से 21 दिन के लिए क्वारंटीन बढ़ाने का फैसला किया है। भूटान में अब तक ...

 इटली 3 अप्रैल के बाद भी चालू रह सकता है लॉकडाउन

इटली 3 अप्रैल के बाद भी चालू रह सकता है लॉकडाउन

इटली। इटली में एक लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। कोरोनावायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए सरकार देश में लॉकडाउन की समय सीमा...

 कोविड-19 के चलते मॉस्को के सभी निवासियों को घर में रहने के निर्देश

कोविड-19 के चलते मॉस्को के सभी निवासियों को घर में रहने के निर्देश

मॉस्को। मॉस्को के मेयर सर्गेई सोबयानिन ने कहा कि सभी मॉस्को वासियों को सोमवार से अपने घरों में रहना होगा।सोबयानिन ने अपने ब्लॉग पर लिखा, 'आज मैंने...

Share it
Top