Top
Home » स्वास्थ्य » डायबीटीज से हो सकता है रेटिनोपैथी का खतरा

डायबीटीज से हो सकता है रेटिनोपैथी का खतरा

👤 manish kumar | Updated on:1 Feb 2020 11:17 AM GMT

डायबीटीज से हो सकता है रेटिनोपैथी का खतरा

Share Post

मधुमेह रेटिनोपैथी एक ऐसी स्थिति है जिसमें मधुमेह के कारण एक व्यक्ति का रेटिना क्षतिग्रस्त हो जाता है। इसलिए इसमें सावधानी बेहद जरुरी है। डायबीटीज (मधुमेह) की वजह से शरीर के कई अंग प्रभावित होते हैं जिसमें आंखें भी शामिल हैं।

डायबीटीज के कारण रेटिना को रक्त पहुंचाने वाली महीन नलिकाएं क्षतिग्रस्त हो जाती हैं जिससे रेटिना पर वस्तुओं का चित्र सही से या बिल्कुल भी नहीं बन पाता है। इसी समस्या को डायबीटिक रेटिनोपैथी कहते हैं। अगर सही समय से इसका इलाज न किया जाए तो रोगी अंधेपन का शिकार हो सकता है। इसका खतरा 20 से 70 वर्ष के लोगों को ज्यादा होता है। शुरू-शुरू में इस बीमारी का पता नहीं चलता। जब आंखें इस बीमारी से 40 फीसदी तक ग्रस्त हो जाती हैं उसके बाद इसका प्रभाव दिखने लगता है।

डायबीटीज की वजह से शरीर का इंसुलिन प्रभावित हो जाता है। यही इंसुलिन ग्लूकोज को शरीर में पहुंचाता है। जब इंसुलिन नहीं बन पाता या कम बनता है तो ग्लूकोज कोशिकाओं में नहीं जा पाता और खून में घुलता रहता है। इसी कारण खून में शुगर का लेवल बढ़ता जाता है। यही खून शरीर के सभी हिस्सों तक पहुंचता है।

आंखों की रक्त नलिकाएं शरीर में सबसे ज्यादा नाजुक होती हैं इसलिए ये सबसे पहले प्रभावित होती हैं। रक्त नलिकाओं के फटने से रिसने वाला रक्त कई बार रेटिना के आसपास इकट्ठा होता रहता है, जिससे आंखों में ब्लाइंड स्पॉट भी बन सकता है।

डायबीटीज का पता चलते ही ब्लड शुगर और कलेस्ट्रॉल की मात्रा को कंट्रोल करें, यहां तक कि सामान्य लोगों को साल में एक-दो बार आंखों की जांच करवानी चाहिए।

बीमारी के लक्षण

चश्मे का नम्बर बार-बार बढ़ना

आंखों का बार-बार संक्रमित होना

सुबह उठने के बाद कम दिखाई देना

सफेद या काला मोतियाबिंद

आंखों में खून की शिराएं या खून के थक्के दिखना

रेटिना से खून आना

सिर में दर्द रहना

अचानक आंखों की रोशनी कम हो जाना

 बांग्लादेश में रोहिंग्या मुसलमान बने सरदर्द, अब तक 50 तस्करों का हुआ एनकाउंटर

बांग्लादेश में रोहिंग्या मुसलमान बने सरदर्द, अब तक 50 तस्करों का हुआ एनकाउंटर

नई दिल्ली। म्यांमार से भागकर बांग्लादेश आए रोहिंग्या मुसलमान अब शेख हसीना की सरकार के लिए मुसीबत बन गए हैं। 5 जुलाई को रात को बाॅर्डर गार्ड ऑफ़...

 चीनी कम्पनियों का नया ठिकाना बन रहा है वियतनाम

चीनी कम्पनियों का नया ठिकाना बन रहा है वियतनाम

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में रियल एस्टेट उद्योग पिट रहा है, लेकिन चीन के पड़ोसी देश वियतनाम में रियल एस्टेट जबर्दस्त उछाल पर है। सबसे अधिक डिमांड...

 अफ्रीकी देश इथियोपिया में भड़की हिंसा में अब तक 166 लोगों की मौत

अफ्रीकी देश इथियोपिया में भड़की हिंसा में अब तक 166 लोगों की मौत

नई दिल्ली। इथियोपिया में ओरोमिया क्षेत्र और राजधानी अदिस अबाबा में एक लोकप्रिय गायक की मौत के बाद हिंसक विरोध प्रदर्शन में कम से कम 166 लोग मारे गए है ...

 बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट हमला, एक बच्चा घायल

बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट हमला, एक बच्चा घायल

नई दिल्ली। इराक की राजधानी बगदाद स्थित अमेरिकी दूतावास पर रविवार तड़के रॉकेट हमला किया गया। अमेरिकी वायु रक्षा प्रणाली पेट्रियॉट ने इस हमले को नाकाम...

 कोरोना वायरस से प्रभावित देश जमीनी स्तर पर बरतें सजगता: डब्ल्यूएचओ

कोरोना वायरस से प्रभावित देश जमीनी स्तर पर बरतें सजगता: डब्ल्यूएचओ

नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वायरस (कोविड 19) से प्रभावित देशों से महामारी के प्रसार पर नियंत्रण लगाने और जमीनी स्तर पर...

Share it
Top