Home » साहित्य » अशांति के बीच कश्मीर की कहानी कहती एक किताब

अशांति के बीच कश्मीर की कहानी कहती एक किताब

👤 Veer Arjun Desk | Updated on:3 Dec 2017 3:12 PM GMT

अशांति के बीच कश्मीर की कहानी कहती एक किताब

Share Post

नई दिल्ली, (भाषा)। कश्मीर में आतंकवाद, लोगों पर इसका प्रभाव और अशांति के बीच उनका अपनापन जैसे कुछ पहलुओं पर बात करती एक नई किताब सामने आयी है।

संचित गुप्ता की किताब द ट्री विथ ए थाउजैंड ऐपल्स , बचपन के उन तीन दोस्तों के जीवन की दास्तां है जो वैसे तो श्रीनगर में शांति एवं सौहार्द के माहौल में पले बढ़े लेकिन 20 जनवरी 1990 की रात के बाद से हालात बद से बदतर होते गये।
कश्मीर में वर्ष 1990 से 2013 के कालखंड को बयां करती यह किताब अपनी अपनी किस्मत चुनने के लिये मजबूर सफीना मलिक, दीवान भट और बिलाल आहानगर की कहानी कहती है।
नियोगी बुक्स द्वारा प्रकाशित इस उपन्यास में अपने घरों से निर्वासित कश्मीरी पंडितों, दिशाहीन युवा आतंकवादियों, अपने कर्तव्य से बंधे सैन्य अधिकारियों एवं बेकसूर लोगों को रेखांकित किया गया है, जो इन हालात का निशाना बने।
दीवान को अपना घर-बार छोड़ना पड़ा, सफीना की मां इसका निशाना बनीं और बिलाल को गरीबी एवं डर से भरे जीवन को गले लगाना पड़ा।
जिस जगह को वे स्वर्ग कहते थे अब वह युद्धभूमि बन गयी है और जब मर्जी के खिलाफ उन्हें अपनी किस्मत का चुनाव करना पड़ा तो उनकी दोस्ती को भी इससे जूझना पड़ा।
20 साल बाद किस्मत उन्हें एक बार फिर मिलाती है और तब वे यह नहीं जानते कि क्या सही है और क्या गलत।
उनके जीवन में कुछ भी सही नहीं चल रहा है। सफीना का भाई तारिक माछिल में सेना की गोली लगने से मारा जाता है और एक आतंकवादी उसके पिता की हत्या कर देता है। बिलाल गरीबी में जी रहा होता है तो दीवान घर छोड़कर मुंबई जा बसता है। वह अपना एक हाथ भी गंवा चुका है।
गुप्ता जिक्र करते हैं कि किस तरह से उनके मन में इस किताब का विचार आया। उन्होंने कहा,वर्ष 2009 में जब मैं कश्मीर गया था तब मैंने 12 साल के एक कश्मीरी मुस्लिम बच्चे को 20 वर्षीय सेना के जवान के साथ कहवा पीते देखा था। तब मैंने आस पास मौजूद नफरत के माहौल के बीच पनपते प्यार को देखा था।
उन्होंने बताया, जिन लोगों से मैं मिला था, जिनसे मैंने उनकी कहानी सुनी थी, उसे मैं कहानी की शक्ल में बताना चाहता था। उन्होंने कहा कि यह किताब संस्कृति, अपनेपन, प्रतिशोध और पश्चाताप की सार्वभौमिक कहानी है।

 अमेरिका : राष्ट्रपति ट्रम्प ने गर्भपात निषेध रैली में हिस्सा लिया

अमेरिका : राष्ट्रपति ट्रम्प ने गर्भपात निषेध रैली में हिस्सा लिया

वॉशिंगटन । अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को गर्भपात निषेध रैली में हिस्सा लेकर हजारों प्रदर्शनकारी महिलाओं का दिल जीत लिया। यह...

 कोरोनावायरस फ्रांस पहुंचा, दर्ज हुए दो मामले

कोरोनावायरस फ्रांस पहुंचा, दर्ज हुए दो मामले

पेरिस । फ्रांस में भी कोरोनावायरस के दो नए मामले सामने आए हैं। फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि की है। दो लोगों में से एक वह व्यक्ति...

 चीन में कोरोना वायरस से 25 की मौत, 8 सौ से अधिक संक्रमित

चीन में कोरोना वायरस से 25 की मौत, 8 सौ से अधिक संक्रमित

जेनेवा । चीन के वुहान के हूबे में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है। जबकि 830 लोग अब तक संक्रमित हो चुके हैं। वुहान के सभी...

 डोनाल्ड ट्रम्प ने एक ही दिन में ट्वीट का रिकार्ड बनाया

डोनाल्ड ट्रम्प ने एक ही दिन में ट्वीट का रिकार्ड बनाया

लॉस एंजेल्स । राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोशल मीडिया प्लेटफ़ार्म पर एक ही दिन बुद्धवार को 142 ट्वीट और रिट्वीट कर अपने ही पहले रिकार्ड को तोड़कर...

 नेपाल : कम्युनिस्ट पार्टी ने 16 सीटों पर हासिल की जीत

नेपाल : कम्युनिस्ट पार्टी ने 16 सीटों पर हासिल की जीत

काठमांडू । नेपाल में गुरुवार को नेशनल असेंबली के चुनाव के नतीजे घोषित हो गए। सत्ताधारी कम्यूनिस्ट पार्टी ने 18 में से 16 सीटों पर तो उसकी गठबंधन वाली...

Share it
Top