Home » मध्य प्रदेश » मप्रः प्रधानमंत्री आज आएंगे झाबुआ, जनजातीय सम्मेलन को करेंगे संबोधित

मप्रः प्रधानमंत्री आज आएंगे झाबुआ, जनजातीय सम्मेलन को करेंगे संबोधित

👤 mukesh | Updated on:10 Feb 2024 8:52 PM GMT

मप्रः प्रधानमंत्री आज आएंगे झाबुआ, जनजातीय सम्मेलन को करेंगे संबोधित

Share Post

- 7550 करोड़ की 22 विकास परियोजनाओं का करेंगे शिलान्यास व लोकार्पण

भोपाल (Bhopal)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) रविवार को मध्य प्रदेश के एक दिवसीय प्रवास पर झाबुआ आएंगे। वे यहां 7550 करोड़ (7550 crores) की सड़क, रेल, बिजली और जल क्षेत्र से संबंधित 22 विभिन्न विकास परियोजनाओं (22 different development projects) का शिलान्यास व लोकार्पण कर राष्ट्र को समर्पित करेंगे। तत्पश्चात जनजातीय सम्मेलन (Tribal conference.) को संबोधित करेंगे।

निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी का प्रातः 11:30 बजे वायुसेना के विशेष विमान से इंदौर आगमन होगा। वे दोपहर 12:20 बजे इंदौर से हेलीकॉप्टर द्वारा झाबुआ पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री 12:40 बजे झाबुआ से आयोजित जनजातीय सम्मेलन में शामिल होंगे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव एवं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे।

टंट्या भील विश्वविद्यालय की आधारशिला रखेंगे

प्रधानमंत्री मोदी कार्यक्रम के दौरान क्रांतिसूर्य टंट्या भील विश्वविद्यालय, खरगोन की आधारशिला रखेंगे। करीब 170 करोड़ रुपये की लागत से विकसित होने वाला यह विश्वविद्यालय छात्रों के समग्र विकास के लिए विश्वस्तरीय अवसंरचना प्रदान करेगा। प्रधानमंत्री झाबुआ में सीएम राइज स्कूल का शिलान्यास करने के साथ स्वामित्व योजना के लाभार्थियों को 1.75 लाख अधिकार अभिलेख पत्रक वितरित करेंगे। इसके साथ ‘प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना’ के अंतर्गत 559 गांवों के लिए 55.9 करोड़ रुपये जारी करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी विशेष पिछड़ी जनजातियों की लगभग दो लाख महिला लाभार्थियों को आहार अनुदान योजना की मासिक किस्त का वितरण करेंगे।

इन परियोजनाओं का करेंगे भूमिपूजन-लोकार्पण

प्रधानमंत्री मोदी पेयजल की तलवाड़ा परियोजना के साथ अटल कायाकल्प और शहरी परिवर्तन मिशन (अमृत) 2.0 के तहत 14 शहरी जलापूर्ति योजनाओं के साथ झाबुआ की 50 ग्राम पंचायतों के लिए नल जल योजना राष्ट्र को समर्पित करने के साथ रतलाम रेलवे स्टेशन और मेघनगर रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास की आधारशिला रखेंगे और इंदौर-देवास-उज्जैन सी केबिन रेलवे लाइन के दोहरीकरण की परियोजनाएं, इटारसी-यार्ड रीमॉडलिंग के साथ उत्तर-दक्षिण ग्रेड सेपरेटर तथा बरखेड़ा-बुदनी-इटारसी को जोड़ने वाली तीसरी लाइन राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

इसके अलावा प्रधानमंत्री मध्यप्रदेश में 3275 करोड़ से अधिक की कई सड़क विकास परियोजनाओं को भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इसमें एनएच-47 के (हरदा-तेमगांव) 30 किलोमीटर तक हरदा-बैतूल (पैकेज-फर्स्ट) को चार लेन का बनाना; एनएच-752डी का उज्जैन देवास खंड, एनएच-47 के इंदौर-गुजरात एमपी सीमा खंड को चार लेन (16 किमी) और एनएच-47 के चिचोली-बैतूल (पैकेज-थर्ड) हरदा-बैतूल को चार लेन और एनएच-552जी का उज्जैन झालावाड़ खंड शामिल है। इन परियोजनाओं से सड़क संपर्क में सुधार होगा और क्षेत्र में आर्थिक विकास में भी मदद मिलेगी।

Share it
Top