Top
Home » मध्य प्रदेश » चांद के दीदार के बाद चलनी से देखा पति का चेहरा, पानी पीकर पूरा किया व्रत

चांद के दीदार के बाद चलनी से देखा पति का चेहरा, पानी पीकर पूरा किया व्रत

👤 Veer Arjun | Updated on:25 Oct 2021 5:04 AM GMT

चांद के दीदार के बाद चलनी से देखा पति का चेहरा, पानी पीकर पूरा किया व्रत

Share Post


सागर। चौबीस घंटों से बिना खाना-पानी के करवा चौथ का व्रत रखे सुहागिनों ने रविवार की शाम करीब 8 बजे चांद का दीदार कर, चांद को अघ्र्य दिया, छलनी से पति को चेहरा देखा, आरती उतारी और पति के हाथ से पानी पीकर अपना व्रत पूरा किया। वहीं करवा चौथ की पूजा से पहले कटरा बाजार में महिलाओं की खासी भीड़ देखी गई।

पति की लंबी उम्र की प्रार्थना को लेकर रविवार को महिलाओं ने दिनभर निर्जला व्रत रखकर करवा चौथ का पूजन किया। इस बार चांद ने भी व्रतधारी महिलाओं को ज्यादा इंतजार नहीं कराया और रात करीब 8 बजे चांद के दीदार होने के बाद महिलाओं ने अपने घरों में पूजन शुरू कर दिया। चंद्रोदय होने के बाद महिलाओं ने चांद का पूजन कर छलनी में पति के दर्शन कर आरती उतारी और उनके हाथों से जल पीकर अपना व्रत पूरा किया। करवा चौथ पूजन के चलते बाजार में दिनभर चहल-पहल रही और पूजन सामग्री से लेकर उपहार तक खरीदे, जिसके बाद होटलों में भी लोगों की जबरदस्त भीड़ रही।

करवा चौथ के व्रत के चलते महिलाओं द्वारा तीन से चार दिन पहले से ही व्रत की तैयारियां शुरू कर दी गई थी। एक-दो दिन पहले से मेहंदी लगवाने के बाद महिलाओं में सुबह से ही व्रत को लेकर काफी उत्साह नजर आया। पति की दीर्घायु के लिए महिलाओं ने पूरा दिन निर्जला करवा चौथ का व्रत रखा। व्रतधारी महिलाओं ने पूजन के लिए पकवान, मिठाई आदि की तैयारी करके शाम को विधि-विधान से करवा चौथ का पूजन किया।

Share it
Top