Home » देश » पूर्वोत्तर के विकास के लिए सरकार वचनवद्ध : राजनाथ

पूर्वोत्तर के विकास के लिए सरकार वचनवद्ध : राजनाथ

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:2018-07-10 16:27:29.0

पूर्वोत्तर के विकास के लिए  सरकार वचनवद्ध : राजनाथ

Share Post

शिलांग, (एजेंसी)। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मेघालय की राजधानी शिलांग में विकास को लेकर बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार पूर्वी राज्यों के आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

मेघालय दौरे पर गऐ राजनाथ ने यह बातें पूर्वोत्तर परिषद एनईसी के 67वीं बैठक में कहीं। उन्होंने आगे कहा कि हमारी सरकार दक्षिण एशियाई देशों के साथ काम करने को उत्सुक है, ताकि पूर्वी क्षेत्र में आर्थिक विकास को बढ़ाया जा सके ।

उन्होंने कहा कि पहले की द लुक ईस्ट पॉलिसी अब द एक्ट ईस्ट पॉलिसी में बदल गई है। गृह मंत्री ने कहा हमारी सरकार सभी पूर्वी आठ राज्यों में व्यापार, शहरी नवीनीकरण, बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने, विनिर्माण, पर्यटन, कौशल विकास, स्मार्ट सिटी और मेक इन इंडिया को बढ़ाने के लिए लगातार काम कर रही है। उन्होंने पूर्वोत्तर नीति फोरम की बैठक नियमित तौर पर आयोजित करने और बैठक में की गई सिफारिशों पर अक्टूबर तक निर्णय लेने की बात कही। उन्होंने एनईसी का एक विशेष सत्र आयोजित करने की बात पर जोर दिया। पूर्वोत्तर राज्यों की क्षेत्रीय नियोजन इकाई (एनईसी) को अब केंद्रीय गृह मंत्रालय के नियंत्रण कर दिया गया है। जिसके अध्यक्ष गृहमंत्री और उपाध्यक्ष पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्री हैं। इस बैठक में आठों पूर्वोत्तर राज्यों के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और केंद्रीय पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्री जितेंद्र सिंह भी मौजूद रहे। बैठक में राजनाथ ने कहा कि पूर्वी राज्यों को समृद्ध बनाने के लिए भारत और आसियान को एक दूसरे का सहयोग करना होगा।

उन्होंने बताया कि इसी उद्देश्य से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक्ट ईस्ट पॉलिसी पर पूर्वोत्तर के मुख्यमंत्रियों के साथ एक बैठक की अध्यक्षता कर इस मुद्दे पर विस्तार से चर्चा की है । उन्होंने कहा कि फोरम को एक्ट ईस्ट पॉलिसी के उद्देश्यों को साकार करने के लिए एक व्यापक कार्ययोजना बनाना चाहिए और एनईसी इसे तैयार करने व लागू करने के लिए बेहतर संस्था है ।

Share it
Top