Top
Home » देश » शिवराज का कलमनाथ पर बड़ा हमला, बताया नगर निकाय के एक्ट को तुगलकी फरमान

शिवराज का कलमनाथ पर बड़ा हमला, बताया नगर निकाय के एक्ट को तुगलकी फरमान

👤 manish kumar | Updated on:10 Oct 2019 5:43 AM GMT

शिवराज का कलमनाथ पर बड़ा हमला, बताया नगर निकाय के एक्ट को तुगलकी फरमान

Share Post

भोपाल । नगरीय निकाय चुनाव प्रणाली में बदलाव के अध्यादेश को राज्यपाल लालजी टंडन की मंजूरी मिलने के बाद महापौर और नगर निगम अध्यक्ष का चुनाव आम जनता नहीं कर सकेगी। नगरीय निकाय एक्ट में हुए परिवर्तन को लेकर गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की एक बड़ी बैठक होने जा रही है। जिसमें पार्टी के बड़े नेता पार्षदों के जरिए महापौर चुनाव वाले विधेयक को लेकर रणनीति पर चर्चा करेंगे। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, संगठन महामंत्री सुहास भगत सहित कई नगर निगम के महापौर भी शामिल होंगे। बैठक में विधेयक के विरोध और भाजपा की आगे की रणनीति पर विचार मंथन होगा।

चौहान ने नगरीय निकाय चुनाव प्रणाली में बदलाव किए जाने को लेकर मुख्यमंत्री कमलनााथ पर निशाना साधा है। बुधवार देर रात ट्वीटर के जरिए शिवराज ने मुख्यमंत्री पर राजनीतिक लाभ के लिए राजधानी को दो हिस्सों में बांटने का आरोप लगाते हुए इसका कढ़ा विरोध किया है। शिवराज ने ट्वीट कर लिखा ' जिस तरह 1905 में अंग्रेज़ क्षत्रप लार्ड कर्जऩ ने बंगाल को धर्म के नाम पर विभाजित किया था, उसी तरह आज कांग्रेस के क्षत्रप मुख्यमंत्री सिर्फ़ अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए हमारी प्रिय राजा भोज की झीलों की नगरी भोपाल को बांट कर दो नगर निगम बनाने की सिफ़ारिश कर रहे है। शांति के टापू मध्य प्रदेश की राजधानी के सामाजिक और सांस्कृतिक ढांचे को तोड़ने के इस प्रपंच का हम कड़ा विरोध करेंगे'।

शिवराज ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश की मुखिया कानून व्यवस्था को छोडक़र राजनीतिक स्वार्थ के लिए तुगलकी फरमान जारी कर रहे है। साथ ही, शिवराज ने जनता से भी सरकार के इस फैसले का विरोध करने की अपील की है। वहीं अन्य ट्वीट कर उन्होंने लिखा 'मैं भोपाल की जनता से अपील करता हूं कि कांग्रेस की बरसों से चली आयी इस कर्जऩी डिवाइड एंड रूल पॉलिसी का हम सब मिलकर पुरजोर विरोध करें। कमलनाथजी राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था, शहरों का विकास, किसानों की समस्या पर ध्यान देने की बजाय महापौर के चुनाव जीतने जैसे राजनीतिक स्वार्थ हेतु ऐसे तुगलकी फैसले ले रहे है। प्रदेश के जरूरी मुद्दों से ध्यान भटकाने की यह हरकत से हम कभी भी विचलित नहीं होंगे। भोपाल एक था, एक है, और एक रहेगा। एजेंसी/हिस

 कतर में कोरोना के कारण 3 अन्य मौतें, 1751 नए मामले दर्ज

कतर में कोरोना के कारण 3 अन्य मौतें, 1751 नए मामले दर्ज

नई दिल्ली । कतर के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार को कोरोना के कारण 3 अन्य लोगों की मौत और 1751 नए संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं।इसके बाद...

 यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक का चीन के प्रति मजबूत रणनीति का आग्रह

यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक का चीन के प्रति मजबूत रणनीति का आग्रह

नई दिल्ली। यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक ने चीन के प्रति 'अधिक मजबूत रणनीति' रखने का आह्वान किया है क्योंकि वह एशिया वैश्विक शक्ति के केंद्र के रूप में ...

 रूस में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 3,50,000 के पार हुई

रूस में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 3,50,000 के पार हुई

नई दिल्ली । रूस में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 8,946 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 353,427 हो गई है।...

 अब हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने चीन के कदमों को धोखा बताया

अब हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने चीन के कदमों को 'धोखा' बताया

नई दिल्ली । हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने कहा कि चीन ने अर्ध-स्वायत्त क्षेत्र पर नियंत्रण कड़ा करके शहर को धोखा दिया है।क्रिस पैटन ने टाइम्स ऑफ...

 कोरोनावायरस संकट के बाद पहली बार ट्रम्प गोल्फ कोर्स पहुंचे

कोरोनावायरस संकट के बाद पहली बार ट्रम्प गोल्फ कोर्स पहुंचे

नई दिल्ली । अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प कोरोनावायरस संकट शुरू होने के दो महीने बाद पहली बार गोल्फ खेलने के लिये गोल्फ क्लब पहुंचे। ट्रंप का...

Share it
Top