Top
Home » देश » प्रधानमंत्री के नेतृत्व में पूर्वोत्तर राज्यों को मिल रहा है न्याय: जावड़ेकर

प्रधानमंत्री के नेतृत्व में पूर्वोत्तर राज्यों को मिल रहा है न्याय: जावड़ेकर

👤 mukesh | Updated on:4 Aug 2020 8:58 AM GMT

प्रधानमंत्री के नेतृत्व में पूर्वोत्तर राज्यों को मिल रहा है न्याय: जावड़ेकर

Share Post

नई दिल्ली। केन्द्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को दूरदर्शन (डीडी) असम चैनल का डिजीटल माध्यम से लॉन्च किया। इससे पहले वहां सभी पूर्वोत्तर राज्यों के लिए एक चैनल हुआ करता था लेकिन मंगलवार से असम राज्य के लिए चौबीस घंटे के चैनल की शुरुआत की गई। इस मौके पर डिजीटल माध्यम से असम के राज्यपाल जगदीश मुखी, मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, सूचना व प्रसारण सचिव अमित खरे सहित दूरदर्शन के कई अधिकारी मौजूद रहे।

इस अवसर पर केन्द्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने डीडी असम के शुभारंभ पर खुशी जताते हुए कहा कि असम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में अच्छा काम हो रहा है। यहां के लोगों को डीडी असम चैनल मिला है जिसे लोग सेट-टॉप बॉक्स लगाकर नि:शुल्क देख सकते हैं। इस फ्री सेट-टॉप बॉक्स के बारे में लोगों को बताना चाहिए ताकि वे दूरदर्शन के सभी 104 चैनल फ्री में देख सकें। इसके साथ डीडी के छह राष्ट्रीय चैनल है। कोरोना काल में इस पर रेट्रो कार्यक्रम के प्रसारण की शुरुआत प्रयोग के तौर पर हुई, जिस पर पुराने सीरियल दिखाए जाते हैं।

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि साल 2000 में पूर्वोत्तर राज्यों के लिए डीडी चैनल की शुरुआत हुई थी लेकिन अब पूर्वोंत्तर राज्यों में अलग अलग चैनल की शुरुआत होनी शुरू हुई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का विजन है कि पूर्वोत्तर राज्य देश के लिए विकास इंजन बनेगा। असम प्राकृतिक विविधता से भरा हुआ है, यहां मेहनती लोग है, सेवा उद्योग की अपार संभावनाएं हैं, थोड़ी कनेक्टिविटी की कमी थी, इस पर भी पिछले छह महीनों में काफी काम हुआ है और उस कमी को पूरा किया गया है। उन्होंने कहा कि असम सर्विस हब बन जाएगा, हाल के दिनों में रेलवे, हवाई यातायात और सभी तरह के यातायात के साधनों में बढ़ोतरी हुई है। पूर्वोत्तर राज्यों में विकास के लिए सभी केन्द्रीय मंत्री महीने में एक बार अपने मंत्रालयों से संबंधित योजनाओं की समीक्षा करने वहां जाते हैं। पूर्वोत्तर राज्यों पर प्रधानमंत्री नरेेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जितना ध्यान दिया जा रहा है उतना ध्यान कभी नहीं दिया गया। पूर्वोत्तर राज्यों को अब न्याय मिल रहा है औऱ आगे भी मिलता रहेगा। (एजेंसी, हि.स.)

Share it
Top