Top
Home » देश » कांग्रेस ने बेंगलुरु हिंसा को बताया शासन-प्रशासन की विफलता, दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

कांग्रेस ने बेंगलुरु हिंसा को बताया शासन-प्रशासन की विफलता, दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

👤 mukesh | Updated on:12 Aug 2020 11:53 AM GMT

कांग्रेस ने बेंगलुरु हिंसा को बताया शासन-प्रशासन की विफलता, दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

Share Post

नई दिल्ली। फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में हुई हिंसा को कांग्रेस ने सरकार और प्रशासन की विफलता बताया है। कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा से सवाल किया है कि आखिर समय रहते पुलिस ने कार्रवाई क्यों नहीं की? कांग्रेस ने कानून को हाथ में लेने और सार्वजनिक संपत्ति को नष्ट करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

कांग्रेस नेता एवं प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बुधवार को ट्वीट कर बेंगलुरु हिंसा के लिए येदियुरप्पा सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि दंगे और आगजनी निंदनीय और अस्वीकार्य हैं। यह घटना पूरी कानून व्यवस्था और शासन की पूर्ण विफलता का नतीजा है। सुरजेवाला ने सवाल किया कि जब मामला गरमाया तो क्या येदियुरप्पा सरकार सो रही थी या हिंसा होने की प्रतीक्षा कर रही थी? आखिर पुलिस ने समय रहते कार्रवाई क्यों नहीं की? हिंसा में तीन लोगों की मौत का जिम्मेदार कौन है?

वहीं केसी वेणुगोपाल ने कहा कि बेंगलुरु में हुई हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है। अपमानजनक पोस्ट के पीछे उन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए, जिन्होंने दंगा किया। कानून को अपने हाथ में लेने और सार्वजनिक संपत्ति को नष्ट करने के मामले को बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए। कांग्रेस नेता ने स्थानीय लोगों से अपील भी की कि शांति बनाए रखें और कानून को अपना काम करने दें।

इससे पहले, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि वह हिंसा की निंदा करते हैं और उस पोस्ट के भी खिलाफ हैं जिसकी वजह से ऐसा हुआ।

उल्लेखनीय है कि बेंगलुरु में एक विधायक के भांजे की फेसबुक पोस्ट के बाद हिंसा हुई। पोस्ट को अपमानजनक बताते हुए ग़ुस्साई भीड़ ने विधायक के घर और थाने पर हमला किया। इस दौरान भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस ने फायरिंग की, जिसमें दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई। वहीं, एक एडिशनल कमिश्नर समेत 60 लोग घायल हुए हैं। पोस्ट लिखने के आरोप में कर्नाटक के विधायक अखंड श्रीनिवासमूर्ति के भांजे को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में अबतक 145 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। (एजेंसी, हि.स.)

Share it
Top