Top
Home » देश » कृषि कानून को लेकर गुस्से में किसान, यह एक खतरनाक मिसाल : राहुल गांधी

कृषि कानून को लेकर गुस्से में किसान, यह एक खतरनाक मिसाल : राहुल गांधी

👤 mukesh | Updated on:26 Oct 2020 8:27 AM GMT

कृषि कानून को लेकर गुस्से में किसान, यह एक खतरनाक मिसाल : राहुल गांधी

Share Post

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कृषि कानून का विरोध करते हुए एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि इस कानून को लेकर किसानों में काफी गुस्सा है, यह मिसाल खतरनाक है और देश के लिए ठीक स्थिति भी नहीं है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाना चाहिए और उनकी बातों को सुनना चाहिए।

राहुल गांधी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि बीते दिन पंजाब में जो हुआ वह दुखद है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति पंजाब के किसानों में गुस्सा बढ़ता जा रहा है। यह एक खतरनाक मिसाल है और देश के लिए अच्छा नहीं है। प्रधानमंत्री को उनके पास जाना चाहिए, उनकी बात सुननी चाहिए और उन्हें तुरंत राहत देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस कठिन वक्त में जरूरी है कि पीएम मोदी किसानों-मजदूरों में सरकार के प्रति विश्वास जगाएं।

कांग्रेस नेता ने ट्वीट के साथ एक खबर भी शेयर की है, जिसमें कहा गया है कि पंजाब में किसानों ने कृषि कानूनों के विरोध में प्रधानमंत्री और कारोबारी दिग्गजों का पुतला फूंका। दरअसल, कृषि कानूनों को लेकर देशभर में किसानों का प्रदर्शन जारी है, पंजाब में यह उग्र रूप धारण कर चुका है। यहां किसानों का कहना है कि जब तक इस काले कानून को सरकार वापस नहीं लेती, उनका विरोध जारी रहेगा। प्रदर्शनकारी किसानों का कहना है कि सरकार उनके हक को मारकर चंद अमीरों की झोली भरने में लगी है। चुनाव के समय तो किसान-मजदूर के फायदे को लेकर वादे किए जाते हैं लेकिन चुनाव बाद स्थिति जस की तस हो जाती है। (एजेंसी, हि.स.)

Share it
Top