Top
Home » देश » गुजरात में कोरोना का संक्रमण बढ़ा, परीक्षण के लिए फिर शुरू हुए बूथ

गुजरात में कोरोना का संक्रमण बढ़ा, परीक्षण के लिए फिर शुरू हुए बूथ

👤 Veer Arjun | Updated on:22 Feb 2021 12:21 PM GMT

गुजरात में कोरोना का संक्रमण बढ़ा, परीक्षण के लिए फिर शुरू हुए बूथ

Share Post

अहमदाबाद । गुजराज में अहमदाबाद, राजकोट और सूरत में कोरोना के मामले बढ़ने से शासन सतर्क हो गया है। प्रशासन ने स्थानीय निकाय चुनाव के दौरान कोरोना के नियमों का पालन करने के लिए कड़े निर्देश दिए हैं। नगर में काेरोना परीक्षण के बूथ फिर से शुरू कर दिया गया है।

राज्य में चुनाव की सरगर्मी के बीच चुनावी माहौल में अहमदाबाद में पार्टिओं की सभाओं और रैलियों में भारी भीड़ देखी गई। इसके अलावा पार्टी कार्यालयों में भी लोगों की भारी भीड़ लगी रही। नगर निगम के चुनाव संपन्न होते ही नगरों में कोरोना के मामलों में तेजी आ गई है। राज्य में कोरोना संक्रमण फिर बढ़ने लगा है। कोरोना के मामलों की संख्या बढ़ती देख प्रशासन ने अहमदाबाद में कोरोना परीक्षण बूथ फिर से शुरू कर दिए हैं। राजकोट और सूरत में भी कोरोना के मामले बढ़ गए हैं। अहमदाबाद में कोरोना के मामलों में गिरावट आने पर शहर के 85 परीक्षण केन्द्र बंद कर दिये गये थे। शहर में एक दिन में लगभग 50 मामले सामने आने पर प्रशासन ने रैपिड टेस्ट के लिए केन्द्रों को फिर से खोल दिया गया है। अहमदाबाद में नगर निगम चुनाव के बाद अब लोगों में क्रिकेट का बुखार चढ़ने लगा है। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में होने वाले क्रिकेट मैच के दौरान शारीरिक दूरी का पालन करना आसान नहीं होगा।

अहमदाबाद के अलावा सूरत में भी कोरोना का संक्रमण बढ़ गया है। सूरत में 47 नए मामले सामने आए हैं। वर्तमान में सूरत में कोरोना के लगभग 363 सक्रिय मामले हैं। सूरत नगर निगम एक्शन मोड में है। संभावना है कि संक्रमण को रोकने के लिए निकट भविष्य में कड़े कदम उठाए जा सकते हैं। इसके अलावा राजकोट में भी हर दिन 35 से 40 मामले बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कर्मचारियों के साथ बैठकें की हैं और स्वास्थ्य विभाग ने धन्वंतरि रथ को पुन: सक्रिय कर दिया है।

राज्य में सोमवार को कोरोना के 283 मामले दर्ज किए गए हैं और 264 लोगों ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीती है। राज्य में कोरोना से रिकवरी दर 97.72 प्रतिशत तक पहुंच गई है। राज्य बनासकांठा, भावनगर, छोटा उदेपुर, डांग, नवसारी, पाटन, पोरबंदर और सुरेंद्रनगर जैसे 08 जिलों में कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है। राज्य में आज 1690 सक्रिय मामले सामने आए हैं, जबकि 29 मरीज वेंटिलेटर पर हैं और 1661 स्थिर हैं। राज्य में अब तक कोरोना से 4405 लोगों की मौत हो चुकी है।

उल्लेखनीय है कि केरल और महाराष्ट्र में कोरोना के नए स्ट्रेन के बाद गुजरात सरकार ने एक बार फिर स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट पर रखा है। हालांकि गुजरात में अभी तक नए कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है, लेकिन राज्य सरकार कोई भी ढील नहीं देना चाहती है।

Share it
Top