Top
Home » देश » गुजरात में लॉकडाउन के आसार, व्यापारी वर्ग परेशान

गुजरात में लॉकडाउन के आसार, व्यापारी वर्ग परेशान

👤 Veer Arjun | Updated on:6 April 2021 10:29 AM GMT

गुजरात में लॉकडाउन के आसार, व्यापारी वर्ग परेशान

Share Post

अहमदाबाद । राज्य में कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों को देखते हुए हाई कोर्ट (High Court) के आदेश के बाद राज्य में लॉकडाउन (Lockdown) लगने की आशंका लोगों को सताने लगी है। व्यापारी वर्ग इस लॉकडाउन के पक्ष में नहीं है, वहीं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने कोरोना की जांच में तेजी लाने और नियमों का सख्ती से पालन कराने पर जोर दिया है। इस संबंध में आईएमए ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को एक पत्र भी लिखा है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को पत्र लिखकर आंशिक लॉकडाउन लगाने की अपील की है। प्रधानमंत्री मोदी को एक पत्र में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने कहा कि वर्तमान में वैक्सीन कोरोनरी हृदय रोग को नियंत्रित करने का एकमात्र तरीका था। पत्र में एसोसिएशन ने सरकार से वॉक-इन वैक्सीन प्रदान करने के लिए राज्य में हर जगह वैक्सीन केंद्र स्थापित करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों, क्लीनिकों, बड़े अस्पतालों और सभी डॉक्टरों को टीकाकरण की अनुमति दी जानी चाहिए। राज्य में टीकाकरण की सुविधा के लिए प्रत्येक जिले में कोविड कार्यबल का गठन किया जाना चाहिए ताकि टीकाकरण ठीक से हो सके।

लॉकडाउन के पक्ष में नहीं है व्यापारी वर्ग

इसी बीच ट्रेड एसोसिएशन ने सुझाव दिया है कि सरकार को अब कोरोना पर अंकुश लगाने के लिए सप्ताहांत में तालाबंदी करनी चाहिए, क्योंकि शहरों में रात का कर्फ्यू भी व्यापार को प्रभावित करता है। गुजरात में रात के कर्फ्यू से ही व्यापारी वर्ग निराश है। गुजरात के अधिकांश व्यापारिक संघों का मानना ​​है कि व्यापार और व्यवसाय पहले बंद होने के कारण आर्थिक और मानसिक रूप से ध्वस्त हो गए थे। कोरोना की दूसरी लहर में सरकार ने रात के कर्फ्यू के समय को बदल दिया है, जो व्यवसाय के लिए आर्थिक रूप से हानिकारक साबित हो रहा है। विभिन्न व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों ने सरकार से शहर में शनिवार-रविवार को यानी शुक्रवार रात 11.00 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगाने का सुझाव दिया है।

Share it
Top