Top
Home » देश » उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, अगले 48 घंटे भारी

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, अगले 48 घंटे भारी

👤 Veer Arjun | Updated on:26 July 2021 6:22 AM GMT

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, अगले 48 घंटे भारी

Share Post

देहरादून । समूचा राज्य बारिश से त्राहिमाम-त्राहिमाम है। लगातार दूसरे दिन सोमवार को बारिश (Rain) हो रही है। मलबा आने से यमुनोत्री (Yamunotri), गौरी कुंड (Gauri Kund) सहित हाइवे बाधित है। अगले 48 घंटे भारी हो सकते हैं। मौसम विज्ञान विभाग ने सोमवार और मंगलवार के लिए रेड अलर्ट (red alert) जारी किया है। 30 जुलाई तक मौसम में बदलाव के आसार नहीं हैं। ऑरेंज अलर्ट (orange alert) जारी किया गया है। जिला प्रशासन और आपदा विभाग अलर्ट पर है।

राज्य में देररात शुरू हुई बारिश जारी है। देहरादून, मसूरी, ऋषिकेश और हरिद्वार में रुक-रुक कर बारिश जारी है। नदी-नालों का जलस्तर बढ़ने लगा है। बारिश के कारण राज्य में करीब 194 सड़कें बंद हैं। रविवार को राज्य में 288 सड़कें बंद थीं। संबंधित विभाग सड़कों की खोलने में लगे हुए हैं।

यमुनोत्री हाइवे खरादी-गगंनाणी के बीच और रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाइवे सौड़ी, बड़कोट, यमुनोत्री घाटी, यमुनोत्री हाइ्वे में जगह-जगह बाधित है। मलबा और बोल्डर आने से आवागमन ठप्प है। चमोली और नई टिहरी में भी बारिश हो रही है। रुद्रप्रयाग जिले में हल्की बूंदाबांदी हुई है। चंपावत-टनकपुर हाइवे स्वांला और भारतोली के पास भारी मलबा आने के कारण बंद है।

अगले दो-तीन दिन राज्य के लिए संवेदनशील हैं। दून में भी अगले दो दिन रेड अलर्ट रखा गया है। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार और मंगलवार को पिथौरागढ़, बागेश्वर, नैनीताल, पौडी, देहरादून जिले में भारी बारिश की संभावना है। बारिश की वजह से तामपान में गिरावट आई है। आज देहरादून का अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। रविवार को दिन का अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से सिर्फ एक डिग्री सेल्सियस कम है। विभाग ने दून में 31 जुलाई तक बारिश का अंदेशा जताया है।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान में 26 और 27 जुलाई को पांच जिलों के लिए बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है। 28 जुलाई को उत्तरकाशी, देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, पिथौरागढ़ जिले में भारी बारिश की संभावना जताई है। 29 जुलाई को भी इन्हीं छह जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने की संभावना है।

मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश के अन्य जिलों के लिए 30 जुलाई तक लगातार ऑरेंज अलर्ट किया गया है। संवेदनशील इलाकों मे चट्टान गिरने, भूस्खलन, सड़कों में मलबा आने, निचले इलाकों में जल भराव हो सकता है।

Share it
Top