Top
Home » पंजाब » मीडिया को एकजुट होकर अपनी सुरक्षा के लिए स्वयं ही कदम बढ़ाने होंगे : सुरेंद्र वर्मा

मीडिया को एकजुट होकर अपनी सुरक्षा के लिए स्वयं ही कदम बढ़ाने होंगे : सुरेंद्र वर्मा

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:21 Nov 2017 4:38 PM GMT
Share Post

चंडीगढ़, (सुनीता शास्त्राr) । नेशनल मीडिया कॉंफेंस का पहला वर्षगांठ समारोह 16नवंबर 2017को पेस दिवस के अवसर पर इंडिया नेशनल सेंटर, नई दिल्ली में आयोजित किया गया। इसमें दिल्ली, पंजाब, चंडीगढ़, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान, उतर पदेश, बिहार, हरियाणा, उड़ीसा, असम सहित पूरे देश से इलेकट्रोनिक और पिंट मीडिया कर्मियों, पत्रकारों और सभ्रांत बुद्धिजीवियों ने भाग लिया। राज्य सभा सांसद श्याम जाजू इस कॉंफेंस में मुखय अतिथि थे। मंच पर नेशनल कॉन्फेडेरेशन की संस्थापक पुष्पा पाण्डे, अध्यक्ष रूनू हजक्वारिका, मुखय संयोजक के. के तिवारी, चेयरमैन सुरेश कदम, मुखय सचिव सुधीर मेहता और पदीप बाल मुतु विराजमान थे। इस अवसर पर सह-संस्थापक सुनील डांग, कोओडि नेटर, बनदना, पवन कुमार मूट, पबंध निदेशक सुरेंद वर्मा उपस्थित थे। कॉंफेंस का पारमभ दीप पज्वलित कर सामूहिक राष्टगान से हुआ। इसके उपरांत सेमिनार में वर्तमान में पत्रकार और पत्रकारिता- पर विस्तृत चर्चा करते हुए वरिष्ठ वक्पाओं ने विचार पस्तुत किए।मुखय अतिथि श्याम जाजू ने अपने संबोधनक्व में कहा कि आज इंटरनेट और इलेवट्रोनिक मीडिया का वर्चस्व बढ़ने के बाद भी पिंट मीडिया का महत्व कम नहीं हुआ है। वो छोटी बात को बड़ा बनाकर उजागर करने और बड़ी बात को छोटा दिखाने में पिंट मीडिया माहिर है। मीडिया को समाज के हित को ध्यान में रखकर कार्य करना चाहिए। इस अवसर पर पदीप बाल मुतु ने कहा कि नेशनल मीडिया कॉन्फेडेरेशन की स्थापना को अभी एक वर्ष हुआ है। वह अभी बाल अवस्था में है जिसको सुरक्षित रखने के लिए बहुत सारी चुनौतियां हैं। मीडिया कर्मियों की क्विजममेदारियां और बढ़ जाती हैं।दिलीप गांधी ने कहा कि पहले की पत्रकारिता और आज की पत्रकारिता में काफी बदलाव आया है। पहले राजनेता स्वयं पत्रकार होते थे। आज के राजनेता पत्रकारों से डरते हैं। कई बार देखा गया है कि ज्वलंत समाचार के आगे सरकार सचेत हो जाती है। पत्रकारिता जोखिम का काम है। पत्रकारों को बहुत सोच विचार कर न्यायिक भाव से लिखना चाहिए।नेशनल मीडिया कॉंफेंस के पबंध निदेश सुरेंद वर्मा ने कहा कि हम मीडिया को चौथा स्तमभ मानते हैं लेकिन आज पत्रकारों पर अनवरत रूप से घातक हमले हो रहे हैं। इनको रोकना जक्वरूरी है। इसके लिए इलेवट्रोनिक और पिंट मीडिया को एकजुट होकर हमलों में घायल औरक्व मारे गए कर्मियों की सहायता और अपनी सुरक्षा के लिए स्वयं ही कदम बढ़ाते हुए कार्य करना है। उन्होंने पत्रकार एकता जिंदाबाद -जिंदाबाद का नारा पदान कर सभा को पोत्साहित किया।नेशनल मीडिया कॉंफेंस की संस्थापक पुष्पा पाण्डे ने आश्वासन दिया कि पत्रकारों को हर तरह से सुरक्षित वातावरण पदान करना होगा। उन्हें आर्थिक औरक्व सामाजिक, हर दृष्टि से सहयोग दिया जाएगा।

Share it
Top