Home » राजस्थान » डूण्डलोद में सर्वसमाज से रूबरू हुईं सीएम

डूण्डलोद में सर्वसमाज से रूबरू हुईं सीएम

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:2017-12-18 16:05:36.0
Share Post

वीर अर्जुन संवाददाता

जयपुर/डूण्डलोद। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि जनसंवाद कार्यक्रम का मकसद है, अपनी मुख्यमंत्री के समक्ष लोग अपनी बात खुलकर रखें, अपनी समस्या बताएं और उसका हम मौके पर ही समाधान करें। श्रीमती राजे रविवार को डूण्डलोद के शेखावाटी पब्लिक स्कूल सभागार में मुख्यमंत्री जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान नवलगढ़ विधानसभा क्षेत्र के लोगों के साथ संवाद कर रही थीं। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में जनसंवाद कार्यक्रम हुए हैं वहां के लोगों की समस्याएं मौके पर ही हल करने और बड़े कार्य बजट में शामिल करने के प्रयास किए जा रहे हैं, ताकि हमें बजट बनाने से पहले पता चल सके कि जनता की अहम जरूरतें क्या हैं।
संवेदनशील बनकर लोगों की तकलीफें समझें -उन्होंने कहा कि अधिकारी जनता की परेशानी को समझें और संवेदनशीलता के साथ उनकी समस्याओं का निराकरण करें ताकि आमजन को इधर-उधर भटकना ना पड़े। उन्होंने कहा कि कोई व्यक्ति अपनी समस्या लेकर आपके पास आए तो उसे संतुष्ट करने का पूरा प्रयास करें।
उन्होंने अधिकारियों की ओर मुखातिब होकर कहा कि एक दिन जब आप भी रिटायर हो जाएंगे और आपको भी ऐसी ही परेशानियों का सामना करना पडे तो आपको कैसा महसूस होगा। इस बात को ध्यान में रखते हुए थोड़ी संवदेनशीलता दिखाएं और लोगों की तकलीफ समझें। श्रीमती राजे ने यह बात स्वच्छ भारत अभियान के तहत नवलगढ़ में निर्मित शौचालय की राशि वितरण में अनियमितता की शिकायतों के बाद कही। उन्होंने नगर पालिका की अधिशाषी अधिकारी को तुरंत ही शिकायत कर्ता के साथ मौके पर भेजा और शिकायतों की जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए।
ई-मित्र के औचक निरीक्षण करें अधिकारी-ई-मित्र कियोस्क संचालकों द्वारा भामाशाह सहित सरकारी योजनाओं से जुड़े दस्तावेज तैयार करने के लिए दुगुने-तिगुने चार्ज वसूलने एवं रेट लिस्ट नहीं लगाने की शिकायत पर नाराजगी दिखाई। उन्होंने कहा कि ई-मित्र कियोस्क संचालकों द्वारा ऐसा किए जाने पर उनके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाए और अधिकारियों द्वारा समय-समय पर औचक निरीक्षण किया जाए ताकि अनियमितता का पता चल सके।
गांवों को सड़क से जोडऩे के लिए सूची तैयार करें -मुख्यमंत्री ने कुछ राजस्व गांवों के पंचायत मुख्यालय से सड़क के माध्यम से नहीं जुड़े होने की शिकायत पर अधिकारियों को निर्देश दिए कि ऐसे गांव जिनकी जनसंख्या 250 से ज्यादा और वे 2001 से राजस्व गांव हेने के बाद भी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क से नहीं जुड़ पाए है उन्हें सड़क से जोडने के लिए सूची तैयार की जाए। उन्होंने कहा कि यह सूची केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय को पत्र के साथ भेजी जाए ताकि इन गांवों को सड़कों से जोड़ा जा सके। उन्होंने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता को दुरुस्त कराने योग्य सड़कों को सूचीबद्ध करने तथा प्राथमिकता के आधार पर उनके प्रस्ताव भिजवाने के निर्देश दिए।
पौध वितरण अनियमितता की जांच के निर्देश
मुख्यमंत्री ने उद्यानिकी विभाग द्वारा बेलपत्र के पौधों को समय पर किसानों के लिए उपलब्ध नहीं कराने की शिकायत पर जिला कलेक्टर को प्रकरण की पूर्ण जांच करवाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री से टोंक छीलरी के किसानों ने शिकायत की कि निजी कम्पनी द्वारा किसानों से प्रति हेक्टेयर हिस्सा राशि दुगुनी से ज्यादा वसूली जा रही है और इसकी रसीद भी नहीं दी जा रही। इसके अलावा बेलपत्र के पौधे जुलाई माह के बजाय सितम्बर-अक्टूबर में दिए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने इस प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए जनसंवाद के दौरान ही उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा तथा जिला कलेक्टर को पूरे प्रकरण की जांच कर शीघ्र ही रिपोर्ट देने के निर्देश दिए।
अभयारण्य में शिट किए जाएंगे नंदी-श्रीमती राजे ने आवारा पशुओं से खेती को होने वाले नुकसान की समस्या के स्थाई समाधान के निर्देश दिए। उन्होंने उप वनसंरक्षक को निर्देश दिए कि आसपास के क्षेत्र में वन भूमि चिन्हित कर उसे अभयारण्य के रूप में परिवर्तित किया जाए। इस अभयारण्य के चारों ओर फेंसिंग करवाकर वहां नंदी (बैल) और दूसरे आवारा पशुओं को रखा जा सकेगा। यहां रखने से पहले सभी पशुओं की टैगिंग की जाएगी। उन्होंने इन पशुओं के लिए चारा जनसहयोग से जुटाने की अपील भी की।
वाटर लीकेज की वीडियोग्राफी मांगी-श्रीमती राजे ने ढाणियां पंचायत में पेयजल पाइपलाइन में लीकेज की शिकायत पर पीएचईडी के अभियंताओं को लीकेज की तुरंत जांच कर ठीक करने के निर्देश दिए। उन्होंने अभियंताओं को जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान ही तुरंत मौके पर भेजा और संबंधित पाइपलाइन की फोटोग्राफी तथा वीडियोग्राफी मंगवाई। उन्होंने पाइपलाइन में अवैध कनेक्शन पाए जाने पर कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए।
मुख्यमंत्री ने इसके अलावा नगर पालिका क्षेत्र में खुले पड़े नालों को फेरो कवर लगाकर ढकने तथा सर्वसमाज के लोगों की सहमति से स्थान निर्धारित कर कचरा एक ही स्थान पर डालने की व्यवस्था बनाने के निर्देश भी दिए।
पट्टा वितरण के लिए लगेंगे शिविर -मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद नगर पालिका क्षेत्र में पट्टा वितरण के लिए 26 दिसम्बर के सूरजगढ़ नगर पालिका और 3 जनवरी को नवलगढ़ में विशेष शिविर आयोजित किए जाएंगे।
आयुर्वेद हॉस्पिटल में लगाया चिकित्सक-नवलगढ़ के बलारिया में आयुर्वेदिक चिकित्सक नहीं होने की शिकायत पर श्रीमती राजे ने तुरंत ही आयुर्वेद चिकित्सालय बलारिया में चिकित्सक लगाने के निर्देश दिए। वहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर राजकीय चिकित्सालय मुकुन्दगढ़ में सप्ताह में तीन दिवस के लिए महिला चिकित्सक को लगाया गया। खिरोड गांव में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्टाफ की कमी की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए प्रतिनियुक्ति पर सीकर लगाई गई महिला स्वास्थ्यकर्ता को प्रतिनियुक्ति निरस्त कर तुरंत खिरोड लगाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद विभाग इस संबंध में आदेश जारी कर दिए। उन्होंने खोजास गांव में राशन की दुकान अगले माह तक खोलने, रोड का बालाजी में रोड़वेज का बस स्टॉप बनाने और घोड़ीवारा कला गांव से बालाजी तक सड़क के डामरीकरण के निर्देश भी दिए। जाट महिला मोर्चा नवलगढ़ की अध्यक्ष सुभीता सीगड एवं महावीर सिंह भामू ने नवलगढ़ में कॉलेज के लिए जमीन आवंटित करने पर मुख्यमंत्री को समाज की ओर धन्यवाद दिया।
श्रीमती राजे ने जनसंवाद कार्यक्रम में जाट, सैनी, राजपूत, रावणा राजपूत, एससी, एसटी, यादव गुर्जर, कुमावत, ब्राहा्रण तथा अल्पसंख्यक सहित विभिन्न समाज के लोगों से संवाद किया। मुख्यमंत्री ने नौकायान में स्वर्ण पदक विजेता सैनिक रूपिन्द्र सिंह शेखावत एवं साउथ वेस्टर्न कमान के लीगल एडवाइजर डॉ. दशरथ सिंह शेखावत को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। राजपूत समाज एवं अन्य समाज के लोगों ने मुख्यमंत्री को तलवार भेंट की एवं चुनरी ओढ़ाकर उनका स्वागत किया। इस अवसर पर खान राज्यमंत्री सुरेंद्रपाल सिंह टीटी, सांसद श्रीमती संतोष अहलावत, विधायक अभिषेक मटोरिया, संभागीय आयुक्त राजेश्वर सिंह, जिला प्रभारी सचिव संदीप वर्मा, पुलिस महानिरीक्षक हेमंत प्रियदर्शी, झुंझुनूं जिला कलेक्टर दिनेश कुमार यादव एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Share it
Top