Top
Home » खेल खिलाड़ी » युवराज ने गांगुली को बताया भारतीय क्रिकेट का दादा

युवराज ने गांगुली को बताया भारतीय क्रिकेट का 'दादा'

👤 mukesh | Updated on:8 July 2020 11:35 AM GMT

युवराज ने गांगुली को बताया भारतीय क्रिकेट का दादा

Share Post

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह ने बुधवार को वर्तमान बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को उनके 48वें जन्मदिवस की बधाई दी। साथ ही युवराज ने उन्हें भारतीय क्रिकेट का निर्विवाद 'दादा' बताया।

युवराज ने गांगुली की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट में पदार्पण किया और उसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। युवराज ने टी-20 विश्व कप 2007 और एकदिवसीय विश्व कप 2011 में भारत को खिताब दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

युवराज ने ट्वीट किया,"भारतीय क्रिकेट के निर्विवाद दादा को जन्मदिन की शुभकामनाएं। आपने हमेशा सामने से नेतृत्व किया है, हमें दिखा दिया कि एक सच्चे नेता होने का क्या मतलब है। मैंने आपसे बहुत कुछ सीखा है। आप हमारे शाश्वत कप्तान हैं। हैप्पी बर्थ डे दादा।"

युवराज ने अपने प्रिय कप्तान के लिए एक वीडियो भी पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने कैप्शन लिखा, 'आपके नेतृत्व में एक शानदार यात्रा रही है।'

युवराज ने कहा, "यह संदेश हमारे प्रिय और शाश्वत कप्तान सौरव गांगुली के लिए है। दादा, यह आपका जन्मदिन है। आपके नेतृत्व में एक शानदार यात्रा रही है। आप मेरा सबसे बड़ा सहारा थे। हम सभी युवाओं को शुरुआत में समर्थन की जरूरत थी। इसके लिए धन्यवाद। मुझे याद है कि जब आपने मुझे एजबेस्टन में 300 एकदिवसीय मैच खेलने के लिए बीसीसीआई पावती की ट्रॉफी दी थी, तो मैंने उस दिन आपसे कहा था कि आपके समर्थन के बिना यह संभव नहीं होगा। जब आप मुझसे, वीरू से परिचित हुए। भज्जी, जहीर, नेहरा, हमने आप पर बहुत सारे प्रैंक खेले।"

युवराज ने याद किया जब पाकिस्तान के खिलाफ एक श्रृंखला के दौरान हरभजन सिंह ने गांगुली पर प्रैंक की योजना बनाई थी।

उन्होंने कहे, "हम एक बार पाकिस्तान के खिलाफ खेल रहे थे। एक दिन पहले अप्रैल फूल का दिन था। हमने एक फर्जी टाइम्स ऑफ इंडिया अखबार बनाया था - यह भज्जी का विचार था। हमने नकली उद्धरण लिखे और आपको श्रेय दिया। मुझे याद है कि आपने कहा था कि यदि यह आप थे तो इस्तीफा दे देंगे। इसके बाद राहुल द्रविड़ ने आपके कंधों को थपथपाया और कहा कि हैप्पी फ़ूल डे। लेकिन आपको पहले से ही इस बात का सही अंदाज़ा था कि इस प्रैंक को कौन खींच सकता है, इसलिए आप सीधे मेरे और भज्जी की तरफ भागे।"

बता दें कि पूर्व कप्तान गांगुली ने भारत के लिए 113 टेस्ट और 311 एकदिवसीय मैच खेले हैं। बाएं हाथ के बल्लेबाज ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में सभी प्रारूपों में 18,575 रन बनाए। गांगुली ने सभी प्रारूपों में 195 मैचों में भारत का नेतृत्व किया था और उनमें से 97 मैच जीतने में सफल रहे। (एजेंसी, हि.स.)

Share it
Top