Top
Home » खेल खिलाड़ी » BCCI का प्लान-B, दक्षिण अफ्रीका या श्रीलंका में हो सकता है IPL 2022

BCCI का प्लान-B, दक्षिण अफ्रीका या श्रीलंका में हो सकता है IPL 2022

👤 mukesh | Updated on:13 Jan 2022 7:47 PM GMT

BCCI का प्लान-B, दक्षिण अफ्रीका या श्रीलंका में हो सकता है IPL 2022

Share Post

नई दिल्ली। एक बार फिर से कोरोना महामारी का प्रभाव खेलों में पड़ने लगा है। कोरोना के कारण इस बार भी रणजी ट्रॉफी को स्थगित करना पड़ा। वहीं इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का आगामी सीजन, जो भारत में होना है, उस पर कोरोना का प्रभाव पड़ना तय है।

इस बीच रिपोर्ट्स के मुताबिक अगर IPL 2022 का आयोजन भारत में सम्भव नहीं हो पाया तो इसे दक्षिण अफ्रीका या श्रीलंका में कराया जा सकता है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) लीग के आयोजन के लिए बैकअप विकल्प तलाश रहा है। BCCI के एक अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, "हम हर समय UAE पर निर्भर नहीं रह सकते हैं इसलिए हमने और विकल्प तलाशने का फैसला किया है। दक्षिण अफ्रीका का समय अंतर भी खिलाड़ियों के लिए अच्छा है।" वहीं श्रीलंका ने कोरोना के बीच लंका प्रीमियर लीग (LPL) का आयोजन सफलतापूर्वक किया है।

टाइमजोन के हिसाब से भी दक्षिण अफ्रीका है सही विकल्प

यदि प्रसारणकर्ता भारतीय समयानुसार शाम 7.30 बजे से मैच की शुरुआत चाहते हैं, तो दक्षिण अफ्रीका में खेल की पहली गेंद शाम 4 बजे फेंकी जाएगी। ऐसे में प्रोटियाज धरती पर लीग दर्शकों के नजरिए से भी ठीक समय से शुरू हो सकेगी।

इस समय दक्षिण अफ्रीका भारत की कर रहा है मेजबानी

दक्षिण अफ्रीका इस समय कोरोना महामारी के बीच भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज की मेजबानी कर रहा है। बायो-बबल में खेली जा रही इस टेस्ट सीरीज में अब तक कोरोना का कोई बड़ा मामला सामने नहीं आया है। वहीं इससे पहले भारत-A की टीम दक्षिण अफ्रीका का सफलतापूर्वक दौरा कर चुकी है। ऐसे में भारतीय टीम की प्रतिक्रिया BCCI के फैसले में अहम भूमिका निभा सकती है। इससे पहले 2009 में भी IPL दक्षिण अफ्रीका में खेला जा चुका है।

कोरोना के बीच पहले भी देश से बाहर खेली जा चुकी है लीग

कोरोना के बीच पहले भी देश से बाहर खेली जा चुकी है लीग

IPL 2021 का दूसरा लेग UAE में खेला गया था

इससे पहले भी कोरोना के कारण IPL का आयोजन भारत से बाहर किया जा चुका है।

कोरोना के बीच IPL 2020 UAE में सफलतापूर्वक खेला गया था।

वहीं IPL 2021 भारत में अप्रैल-मई में खेला जाना तय था। हालांकि, 60 में से 29 मैचों के बाद, कोरोना की मार के बीच भारत में इसका आयोजन संभव नहीं हो सका और बचे हुए मैच UAE में सितंबर-अक्टूबर में खेले गए थे।

Share it
Top