Home » उत्तराखंड » महिला पंचायत पतिनिधियों एवं कार्मिकों का तीन दिवसीय अभिनव पशिक्षण कार्यकम शुरू

महिला पंचायत पतिनिधियों एवं कार्मिकों का तीन दिवसीय अभिनव पशिक्षण कार्यकम शुरू

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:2018-05-22 16:30:07.0
Share Post

वीर अर्जुन संवाददाता

देहरादून। महिला पंचायत पतिनिधियों एवं कार्मिकों के राज्य स्तरीय अभिनव पषिक्षण कार्पाम का षुभारम्भ निदेशक पंचायतीराज एचसी सेमवाल ने दीप पज्वलित कर किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि पंचायतें विकास की मुख्य धुरी हैं। इन्हें सशक्त कर देश को मजबूती पदान की जा सकती है।
उन्होंने बताया कि पंचायतीराज विभाग द्वारा पदेश के 300 पंचायत पतिनिधियों एवं कार्मिकों के लिए तीन दिवसीय अभिनव पशिक्षण कार्यकम का आयोजन किया जा रहा है इसका मुख्य उद्देश्य एक मंच पर ग्राम पंचायत से सम्बन्धित विषयों को साझा करना,ग्राम पंचायतों के लिए "ाsस अपषिष्ट पबन्धन नीति 2017 पर जानकारी बढ़ाना, तथा पशिक्षण के साथ-साथ ग्राम पंचायतों द्वारा किये विकास कार्यो का स्थलीय अवलोकन कर जानकारी बढ़ाना है। संयुक्त निदेशक डी.पी.देवराडी ने पशिक्षण कार्यकम में जानकारी दी कि अभिनव पशिक्षण कार्यकम के पथम दिवस ग्राम पंचायतों के लिए उत्तराखण्ड "ाsस अपशिष्ट पबन्धन नीति, महिला सशक्ततीकरण, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं तथा "ाsस अपशिष्ट पबन्धन पर जानकारी दी जायेगी। द्वितीय दिवस पतिभागियों के तीन समूह बनाकर "ाsस अपशिष्ट पबन्धन इकाई भोगपुर,स्वंय सहायता समूहों द्वारा संचालित बालपोषाहार इकाई सहसुपर एवं ग्राम पंचायत डाकपत्थर द्वारा किये गये कार्यो का अवलोकन किया जायेगा। अभिनव पशिक्षण के तृतीय दिवस एवं अन्तिम दिवस शैक्षणिक भ्रमण की सीख का पस्तुतीकरण किया जायेगा। इस अवसर पर डा0 रेनिया द्वारा महिला स्वास्थ्य एवं मनोचिकित्सा के विभिन्न आयमों में पकाष डालते हुए बताया गया कि मानव के जीवन में दैनिक कार्यषैली का बड़ा पभाव पड़ता है। इसके लिए सकारात्मक सोच जीवन में नई दिषा देती है। महिला बालविकास के नोडल अधिकारी, आरती बलोदी राज्य एवं केन्द सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में जानकारी दी गयी। इस अवसर पर जिला विधिक सेवा पधिकरण की विषेशज्ञ लता राणा द्वारा महिला अधिकार एवं कानूनो की जानकारी पतिभागियों को दी गयी। अभिनव पषिक्षण में महिला उद्यमिता के गुणों के बारे में जानकारी देते हुए विषेशज्ञ पूजा त्रिवेदी ने बताया कि स्वयं सहायता समूह के माध्यम से महिला स्वरोजगार को बढ़ावा दिया जा सकता है। वित नियंत्रक पतिमा पैन्यूली तथा सहायक निदेशक मनोज कुमार तिवारी ने कहा कि अभिनव पशिक्षण के तृतीय दिवस एवं अन्तिम दिवस उत्तराखण्ड महिला स्वास्थ्य एवं स्वच्छता "ाsस अपशिष्ट पबन्धन नीति 2017,जी0एस0टी0, पर जानकारी देने के साथ ही ग्राम पंचायत पतिनिधियों के अनुभवों का अदान- पदान किया जायेगा। इस अवसर पर पत्येक विकास खण्ड से एक महिला पधान, एक आशा एवं आंगनवाडी सहित 200 पतिभागियों द्वारा पतिभाग किया गया। इस अवसर पर कार्यकम में जिला पंचायतराज अधिकारी देहरादून एम0जफरखान, ए.डी.पी.आर.ओ. सी0पी0सुयाल, सतपाल राणा, रानी काला, अन्तरा सुयाल,पद्युमन उपस्थित थे।

Share it
Top