Home » उत्तराखंड » हॉट मिक्स प्लांट सीज न हुए तो एनजीटी में मुकदमा दर्ज कराया जाएगा : भाष्कर

हॉट मिक्स प्लांट सीज न हुए तो एनजीटी में मुकदमा दर्ज कराया जाएगा : भाष्कर

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:2018-06-19 16:49:38.0
Share Post

देहरादून, (आजखबर)। ह्यूमन राइट्स एंड आरटीआई एसोसियेशन के महासचिव भास्कर चुग ने कहा कि पछ्वादून के विभिन्न क्षेत्रों में नियम विरुद्ध तरीके से अनेकों हाट मिक्स प्लांट, स्टोन ाsढशर, पीनिंग प्लांट माफिया चला रहे हैं। इनसे पर्यावरण को प्रदूषित किया जा रहा है। यमुना नदी का पानी बुरी तरह से दूषित किया जा रहा है मगर प्रशासन कार्यवाही को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि हॉट मिक्स प्लांट प्रशासन द्वारा शीघ्र सीज नहीं किए जाते तो एसोसिएशन राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) में मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

देहरादून में उत्तरांचल प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता में भास्कर चुग ने कहा कि मौजा भीमावाला के नावघाट में ठीक यमुना के तट पर एक हॉट मिक्स प्लांट चार साल पहले लगाया गया था। इस हॉट मिक्स प्लांट के कारण जब यमुना नदी का पानी उक्त स्थान पर दूषित होने लगा और इस प्लांट की आड़ में धड़ल्ले से अवैध खनन किया जाने लगा तो हमने इसके खिलाफ लंबा आन्दोलन चलाया। आरटीआई में तथ्य सामने आये कि उक्त प्लांट को किसी भी विभाग से कोई अनुमति प्राप्त नहीं है। यह क्षेत्र आसन झील के नजदीक आता है जहां न्यायालय ने किसी भी प्रकार के खनन पर पूर्ण रूप से प्रतिबन्ध लगाया हुआ है। इस झील में विदेशी पक्षी भी आते है मगर हॉट मिक्स प्लांट जैसी पर्यावरण विरोधी गतिविधियाँ इस पर दुष्प्रभाव डालने लगी तो हमने अनेको बार एसडीएम् विकासनगर, राज्य के सीएम् व् भारत के प्रधानमत्री तक से प्रकरण की शिकायत की तो गत वर्ष 2017 में सात जून को उच्चाधिकारियों के निर्देश पर एसडीएम् विकासनगर ने तहसीलदार की मार्पत इस हॉट मिक्स प्लांट को सीज करवा दिया था। आठ जून 2018 को ह्यूमन राइट्स एंड आरटीआई एसोसियेशन को स्थानीय लोगों ने बताया कि उक्त हॉट मिक्स प्लांट को सीज होने के बावजूद चोरी छुपे चलाया जा रहा है क्योकि जिस ठेकेदार का ये हॉट मिक्स प्लांट है , उसको यूजेवीएनएल से हॉट मिक्स सडके बनाने का ठेका मिला है. एसोसियेशन ने प्रकरण में तुरंत तहसीलदार विकासनगर की मार्पत मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा तो तहसीलदार ने सीज प्लांट में हॉट मिक्सिंग का कार्य चलने पर हैरानी जताई और शाम तक कार्यवाही का आश्वासन दिया . लेकिन तहसील प्रशासन द्वारा कार्यवाही न किये जाने पर पर हमने डीएम् को ज्ञापन दिया गया परन्तु तब भी कोई कार्यवाही नही हुई. इस से लगता है कि पूरा प्रशासन या तो उक्त प्लांट के स्वामी की राजनैतिक पकड के कारण दबाव में है या मिला हुआ है अन्यथा किसी की हिम्मत नहीं कि एसडीएम् द्वारा सीज किये गए हॉट मिक्स प्लांट में कार्य कर सके। उक्त अवैध बिना अनुमति के हाट मिक्स प्लांट के कारण जीवनदायिनी यमुना प्रदूषित हो रही है, यमुना तट पर गरमी हो रही है जिस से जलचर जीवो को नुक्सान हो रहा है, अवैध खनन हो रहा है और कोर्ट के आदेशो का उलंघन हो रहा है . एसो. शासन प्रशासन से उक्त प्लांट स्वामी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने , हॉट मिक्सिंग का कार्य तुरंत रुकवाने व् सीज करने के स्थान पर प्लांट को मशीनरी सहित जब्त कर नीलाम करने की मांग करता है . इसी प्रकार से जस्सोवाला , विकासनगर पुल न. एक सहित अनेक स्थान पर नियमविरुद्ध स्टोन ाsढशर व् पीनिंग प्लांट चल रहे है, आसन ,यमुना में अवैध खनन चल रहा है. भास्कर चुग ने चेतावनी दी कि तीन दिन में कार्यवाही न होने की सूरत में प्रकरण में राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) में हॉट मिक्स प्लांट के स्वामी के साथ साथ प्रदेश सरकार व् जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध एसोसियेशन द्वारा मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा। पत्रकार वार्ता में एसोसिएशन के अध्यक्ष अरविंद शर्मा, अमर सिंह कश्यप आदि उपस्थित रहे।

Share it
Top