Top
Home » उत्तराखंड » उत्तराखंडः टनल के अंदर जिंदगी की आस हुई क्षीण, शव मिलने शुरू

उत्तराखंडः टनल के अंदर जिंदगी की आस हुई क्षीण, शव मिलने शुरू

👤 manish kumar | Updated on:14 Feb 2021 6:23 AM GMT

उत्तराखंडः टनल के अंदर जिंदगी की आस हुई क्षीण, शव मिलने शुरू

Share Post

गोपेश्वर। तपोवन-रैणी में सात फरवरी को हिमस्खलन से आयी बाढ़ के बाद तबाह हुए एनटीपीसी की जल विद्युत परियोजना के टनल में 35 से 40 लोगों के फंसे होने की संभावना के बाद से लगातार रेस्क्यू अभियान चलाया जा रहा था। रविवार को आठवें दिन सुबह रेस्क्यू अभियान के दौरान दो शव बरामद हुए हैं। शवों के मिलने के बाद अब अन्य फंसे लोगों के जीवित होने की संभावना भी क्षीण होती नजर आ रही है।

रविवार सुबह जब रेस्क्यू अभियान दल रेस्क्यू के कार्य में जुटा था तो इसी दौरान उन्हें सुबह छह बजे के आसपास दो शव मिले। टनल के अंदर शवों के मिलने के बाद अब अन्य फंसे लोगों के जीवित होने की संभावना भी क्षीण होती नजर आ रही है। दूर-दूर से आपदा में लापता अपने परिजनों के जीवित बचे होने की आस में तपोवन पहुंचे लोगों में भी मायूसी छाने लगी है। जिलाधिकारी चमोली स्वाति एस भदौरिया व पुलिस अधीक्षक चमोली यशवंत सिंह चौहान भी घटनास्थल पर मौजूद है। अधिकारियों की टीम रेस्क्यू अभियान पर लगातार नजर लगाये हुए है। एजेंसी

Share it
Top