Top
Home » उत्तर प्रदेश » मायावती बोलीं, अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी चिन्ता की बात, प्रभावी कदम उठाए सरकार

मायावती बोलीं, अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी चिन्ता की बात, प्रभावी कदम उठाए सरकार

👤 mukesh | Updated on:15 Sep 2020 7:18 AM GMT

मायावती बोलीं, अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी चिन्ता की बात, प्रभावी कदम उठाए सरकार

Share Post

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कोरोना संक्रमण काल में पीपीई किट के बाद अस्पतालों में ऑक्सीजन के कमी की खबरों पर चिन्ता जाहिर की है। उन्होंने केन्द्र सरकार से ऐसे मामलों पर तत्काल प्रभावी कदम उठाने की मांग की है।

मायावती ने मंगलवार को ट्वीट किया कि देश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच इस महामारी के विरुद्ध जारी संघर्ष में पीपीई किट के बाद अब खासकर उत्तर प्रदेश, बिहार व महाराष्ट्र आदि के अस्पतालों में ऑक्सीजन के कमी अति-चिन्ता की बात है। ऐसे में केन्द्र तुरन्त प्रभावी कदम उठाए ताकि कोरोना से होने वाली बढ़ती मौतों को रोका जा सके।

इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य में स्थापित ऑक्सीजन प्लाण्ट्स प्रदेश के सभी मेडिकल काॅलेजों में निर्धारित दर पर ऑक्सीजन की आपूर्ति करें। ऑक्सीजन की दर वही रहनी चाहिए, जो कोविड-19 के पहले थी। उन्होंने ऑक्सीजन की कालाबाजारी की शिकायत मिलने पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिये हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि अस्पतालों, मेडिकल काॅलेजों तथा चिकित्सा संस्थानों में ऑक्सीजन की कमी न होने पाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये है कि सभी अस्पतालों में 48 घंटे ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।

उन्होंने निर्देश दिए हैं कि जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, गोरखपुर, वाराणसी तथा मेरठ में सभी मेडिकल काॅलेज तथा अस्पताल पूरी गुणवत्ता एवं क्षमता से कार्य करें। औषधि नियंत्रण इन जनपदों में दवाईयां तथा ऑक्सीजन की सुचारु उपलब्धता बनाये रखें। औषधि नियंत्रण द्वारा प्रदेश में दवाओं एवं ऑक्सीजन की उपलब्धता व आपूर्ति के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री कार्यालय को प्रतिदिन रिपोर्ट उपलब्ध करायी जाए। (एजेंसी, हि.स.)

Share it
Top