Top
Home » उत्तर प्रदेश » अपना दल की मैं ही अध्यक्ष, प्रलोभन में नहीं आऊंगी -कृष्णा पटेल

अपना दल की मैं ही अध्यक्ष, प्रलोभन में नहीं आऊंगी -कृष्णा पटेल

👤 Veer Arjun | Updated on:12 Sep 2021 6:26 AM GMT

अपना दल की मैं ही अध्यक्ष, प्रलोभन में नहीं आऊंगी -कृष्णा पटेल

Share Post

लखनऊ। अपना दल (कमेरावादी) की अध्यक्ष कृष्णा पटेल ने अपना दल (एस) के विलय के प्रस्ताव पर पलटवार करते हुए कहा कि मैं सोनेलाल पटेल की पार्टी अपना दल की अध्यक्ष कल भी थी, आज भी हूं और कल भी रहूंगी। जो लोग पार्टी में फूट डालने वालों की ओर से निकाले गये हैं, वे लोग भी मुझे अध्यक्ष मानेंगे। कृष्णा पटेल ने कहा कि उन्हें प्रलोभन दिए जा रहे है लेकिन वे बहकावे में नहीं आएंगी।

केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल की मां कृष्णा पटेल ने आह्वान किया कि जो लोग इस पार्टी से गये, वो लोग वापस आकर निष्ठा के साथ काम करें। मुझे हल्के प्रलोभन ना दें। हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में उन्होंने कहा कि मुझे ना ही एमएलसी बनना है, और न ही मंत्री बनना है। विलय के बाद बनने वाली संयुक्त पार्टी का मुझे अध्यक्ष बनाने का ऑफर दिया जा रहा है। मै तो तब से अध्यक्ष हूं, जब से सोनेलाल पटेल जी का निधन हुआ। मुझे एक- एक कार्यकर्ता ने अध्यक्ष चुना है। आज भी हूं, कल भी रहूंगी।

ज्ञातव्य है कि इन दिनों अपना दल के धड़ों को एक किए जाने की चर्चा चल रही है। एक दिन पहले ही सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि अनुप्रिया पटेल ने अपनी मां को कई प्रस्ताव दिए हैं। अब कृष्णा पटेल ने हिन्दुस्थान समाचार से कहा कि वह सोनेलाल पटेल के सपने को सच करने के लिए दिन रात लगी हुई हैं। वे किसी के भी प्रलोभन में नहीं आयेंगी। उन्होंने विलय के प्रस्ताव के पीछे भाजपा के हाथ होने के आरोप लगाते हुए कहा कि इस नाटक में भाजपा शामिल है। भाजपा हमें कमजोर कर जनता को अपने साथ करना चाहती है। लेकिन अब जनता इनके बहकावे में आने वाली नहीं है। मैं जनता के साथ खड़ी हूं।


Share it
Top