Top
Home » उत्तर प्रदेश » जंगल से भटकर कर कानपुर के शहरी क्षेत्र में घुसा तेंदुआ, ड्रोन से तलाश शुरू

जंगल से भटकर कर कानपुर के शहरी क्षेत्र में घुसा तेंदुआ, ड्रोन से तलाश शुरू

👤 Veer Arjun | Updated on:29 Nov 2021 9:45 AM GMT

जंगल से भटकर कर कानपुर के शहरी क्षेत्र में घुसा तेंदुआ, ड्रोन से तलाश शुरू

Share Post

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक बार फिर से जंगल से भटकर एक तेंदुआ के शहरी क्षेत्र में घुसने का मामला प्रकाश में आया है। यहां गंगा कटरी के पास स्थित नवाबगंज इलाके में बने विक्रमाजीत सिंह सनातन धर्म कॉलेज (वीएसएसडी) के परिसर में बीती रात एक तेंदुआ के घूमने की फोटो सीसीटीवी में आई है। कॉलेज में तेंदुआ होने की सूचना पर पुलिस व वन विभाग की टीमें आ गई हैं और उसकी तलाश में ड्रोन की मद्द ली जा रही है। फिलहाल तेंदुआ की दहशत के चलते हॉस्टल खाली करा लिया गया है।

बताते चलें कि, गंगा बैराज के करीब नवाबगंज थाना क्षेत्र में वीएसएसडी डिग्री कॉलेज है। कॉलेज के परिसर में रविवार की रात जंगल से भटकर आए तेंदुआ आ पहुंचा। कॉलेज में बने हॉस्टल के सीसीटीवी कैमरे में तेंदुए की घूमने की फोटो कैद हो गई। जब सीसीटीवी फुटेज सुरक्षा में लगे कर्मियों ने देखा तो हैरान रहे गए। इस बीच बताया जा रहा है कि हॉस्टल के कुछ छात्रों ने भी तेंदुए को देर रात देखा और प्रबंधन को इसकी जानकारी दी। तेंदुआ होने की जानकारी पर कॉलेज में दहशत फैल गई। मामले की जानकारी पुलिस व वन विभाग को दी गई। रविवार की सुबह पुलिस व वन विभाग के रेस्क्यू टीमें पहुंची और तेंदुए की खोजबीन शुरू की गई। इस बीच हॉस्टल को खाली कराते हुए कॉलेज में आने-जाने वाले लोगों पर रोक लगा दी गई।

कानपुर शहर में तेंदुआ घुस आया है रविवार की सुबह वीएसएसडी डिग्री कालेज के सीसीटीवी फुटेज में उसे देखने के बाद वन विभाग की टीम सक्रिय कर दी गई है। पुलिस ने भी उसकी लोकेशन पता करने के लिए ड्रोन से निगरानी शुरू कराई है। तेंदुए की लोकेशन का पता लगाने के लिए गंगा कटरी इलाके में वन कर्मियों ने कांबिंग शुरू कर दी है। इसके साथ ही गंगा बैराज से सटे शहर व आबादी वालों क्षेत्रों में तेंदुए का पता लगाने के लिए ड्रोन की मद्द ली जा रही है।

तेंदुए की तलाश में जुटे टीमों को अभी उसकी सही लोकेशन का पता नहीं चल सका है। फिलहाल जिला व पुलिस प्रशासन के साथ वन विभाग द्वारा युद्धस्तर पर कॉलेज के साथ ही क्षेत्र की निगरानी शुरू करा दी गई है। (हि.स.)

Share it
Top