Home » दुनिया » रूस से मिसाइल खरीदने की भारत की योजना पर अभी भारत से बातचीत हो रही हैः अमेरिकी अधिकारी

रूस से मिसाइल खरीदने की भारत की योजना पर अभी भारत से बातचीत हो रही हैः अमेरिकी अधिकारी

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:2018-09-11 17:32:10.0
Share Post

वाशिंगटन, (भाषा)। भारत की रूस से पांच अरब डॉलर की मिसाइल रक्षा प्रणाली खरीदने की योजना को लेकर अमेरिका ने अभी तक किसी तरह का प्रतिबंध लगाने का फैसला नहीं किया है। एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि भारत के साथ अभी इस मुद्दे पर बातचीत जारी है।

भारत वायु सीमाओं की रखा के लिए भारत अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना कर रहे रुस से एस-400 ट्रायम्फ मिसाइल प्रणाली खरीदना चाहता है। पांच की संख्या में इस प्रणाली का सौदा करीब 4.5 अरब डालर का है।

अमेरिका ने अपने काट्सा कानून के तहत रूस पर पाबंदी लगा रखी है। ऐसे में भारत का रूस से हथियार खरीदना अमेरिकी कानून का उल्लंघन माना जाएगा और भारत पर भी पाबंदी लगायी जा सकती है

हालांकि इस कानून के तहत अमेरिका के राष्ट्रपति खास मामले में छूट भी दे सकते हैं। दक्षिण और पश्चिम एशिया मामलों की सहायक विदेश मंत्री एलिस वेल ने सोमवार को संवाददाताओं को कॉन्फेंस कॉल के जरिये कहा, भारतीय नेतृत्व के साथ हमारी बातचीत जारी है। हम ऐसे तरीकों पर काम कर रहे हैं जिनके जरिये रूस को उसके व्यवहार के लिए जिम्मेदार "हराया जा सके।

यह पूछे जाने पर कि यदि भारत रूस से एस-400 खरीदता है तो क्या उसे छूट दी जाएगी, वेल ने कहा कि मौजूदा अमेरिकी प्रतिबंध भारत जैसे देशों को प्रतिकूल तरीके से प्रभावित करने के लिए नहीं हैं। ये प्रतिबंध रूस को प्रभावित करने के लिए तैयार किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि हम काट्सा के महत्व और (अमेरिका के विरोधियों से प्रतिबंधों के माध्यम से प्रत्युत्तर देने का अधिनियम) के प्रभावों के अनुसार काम कर रहे है। वेल ने फिर करा कि एस-400 के मामले में कोई पूर्ण छूट या किसी देश विशेष को छूट नहीं दी गयी है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी कांग्रेस ने जो अधिकार दिया है वह राष्ट्रपति को इसपर फैसला करने की अनुमति देता है। इसका इस्तेमाल व्यक्तिगत आधार पर किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने भारत और अन्य देशों को ईरान से कच्चे तेल का आयात चार नवंबर तक शून्य करने को कहा है। ऐसा नहीं करने पर अमेरिका ने प्रतिबंध की चेतावनी दी है।

Share it
Top