Top
Home » दुनिया » भारत की करतारपुर साहिब तक पुल बनाने की पेशकश

भारत की करतारपुर साहिब तक पुल बनाने की पेशकश

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:17 April 2019 2:07 PM GMT
Share Post

इस्लामाबाद, (वार्ता)। भारत ने पाकिस्तान के करतारपुर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब का दर्शन करने वाले सिख श्रद्धालुओं की सहूलियत के लिए डेरा बाबा नानक से पाकिस्तान-भारत सीमा तक 100 किलोमीटर लंबे पुल के निर्माण की पेशकश की है ।

दोनों देशों के विशेषज्ञों के बीच करतापुर गलियारे को लेकर मंगलवार को पाकिस्तान में तकनीकी स्तर के दूसरे दौर की बातचीत हुई थी।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार भारतीय शहर डेरा बाबा नानक से करतारपुर स्थित गुरुवारा दरबार साहिब तक भारत ने 100 किलोमीटर लंबे पुल के निर्माण की पेशकश की है ताकि सिख श्रद्धालुओं को वहां पहुंचने में सुविधा हो। तकनीकी स्तर के दूसरे दौर की बैठक में पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रतिनिधि और फ्रंटियर वर्क्स आर्गनाइजेशन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। राजनयिक सूत्रों के अनुसार भारत ने यह पेशकश मानसून के दौरान श्रद्धालुओं को आने वाली दिक्कतों को देखते हुए की है । सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी अधिकारियों ने कहा है कि वह भारत की पेशकश को मंजूरी के लिए अपने यहां संबंधित विभागों को प्रेषित करेंगे। दूसरे दौर की तकनीकी बैठक में दोनों तरफ के विशेषज्ञों ने करतारपुर गलियारे की लंबाई के अलावा सड़कों के निर्माण और बाड़ के अलावा सीमा और आव्रजन से जुड़े मुद्दों पर चर्चा हुई। करतारपुर गलियारा चार किलोमीटर लंबा है । पाकिस्तान की तरफ बनाये जा रहे गलियारे के आधे हिस्सा का काम पूरा हो चुका जबकि जीरो लाइन से बाबा नानक गुरुद्वारे तक गलियारे का हिस्सा भारत बना रहा है। जीरो लाइन पर भारत यात्री परिसर बना रहा है जिस पर करीब 1.9 अरब रुपए खर्च का अनुमान है ।

सिख श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए पाकिस्तान की तरफ से बनाई गई समिति के सदस्यों को लेकर भारत ने नाराजगी जाहिर की थी और बातचीत के लिए अपना दल भेजने से मना कर दिया था हालांकि बाद में इस पर फिर बात आगे बढ़ी। इस महीने की शुरुआत में पाकिस्तान ने भारत के प्रस्ताव को मंजूर करते हुए दोनों तरफ के तकनीकी विशेषज्ञों की 16 अप्रैल को बैठक पर मंजूरी दी थी।

गुरुद्वारा करतारपुर साहिब सिख समुदाय के लिए सबसे पवित्र स्थान माना जाता है। यह भारत की सीमा से चार किलोमीटर अंदर पाकिस्तान के नारोवाल में स्थित है। प्रस्तावित गलियारे को सिखों के पहले गुरु बाबा गुरुनानक देव के 550वें जन्म दिन के अवसर पर इस वर्ष खोलने की योजना है।

 कोरोनावायरस के बाद गरीबी की महामारी खत्म करने की पोप ने की अपील

कोरोनावायरस के बाद 'गरीबी की महामारी' खत्म करने की पोप ने की अपील

नई दिल्ली। पोप फ्रांसिस ने शनिवार को कोरोनावायरस महामारी का अंत होने के बाद लोगों से दुनिया में 'अधिक न्यायसंगत और समतापूर्ण समाज' के लिए और 'गरीबी...

 विश्व में 60 लाख से ऊपर पहुंचे कोरोनावायरस संक्रमण के मामले

विश्व में 60 लाख से ऊपर पहुंचे कोरोनावायरस संक्रमण के मामले

नई दिल्ली । दुनिया भर में कोरोनोवायरस के मामलों की संख्या रविवार को 60 लाख से ऊपर दर्ज की गई। ब्राजील में दैनिक संक्रमण में एक और रिकॉर्ड वृद्धि...

 भारत से निकाले गए राजनियकों के फैसले से बौखलाया पाकिस्तान

भारत से निकाले गए राजनियकों के फैसले से बौखलाया पाकिस्तान

नई दिल्ली । पाकिस्तान ने नई दिल्ली स्थित उसके उच्चायोग में कार्यरत दो अधिकारियों को भारतीय एजेंसियों द्वारा गिरफ्तार करने. उन्हें आवांछित व्यक्ति...

 विवादित नए नक्शे पर नेपाल ने संसद में रखा संशोधन विधेयक

विवादित नए नक्शे पर नेपाल ने संसद में रखा संशोधन विधेयक

काठमांडू । नेपाल सरकार ने रविवार को संसद के निचले सदन में नया विवादास्पद राजनीतिक मानचित्र संबंधी विधेयक संसद में पेश किया जिसमें काला पानी सहित कुछ...

 सउदी अरब में मुख्य जेद्दाह हवाई अड्डा फिर से खुला, फ्लाइट्स शुरू

सउदी अरब में मुख्य जेद्दाह हवाई अड्डा फिर से खुला, फ्लाइट्स शुरू

नई दिल्ली । सउदी अरब में किंग अब्दुल अजीज अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को रविवार को फिर से खोल दिया गया। कोरोना के कारण इसे बंद कर दिया गया था। इस...

Share it
Top