Home » दुनिया » नींद में दांत पीसने से धौंसबाजी से पीड़ित होने का संकेत

नींद में दांत पीसने से धौंसबाजी से पीड़ित होने का संकेत

👤 admin5 | Updated on:2017-07-17 16:04:19.0
Share Post

लंदन, (भाषा)। सोने के दौरान किशोर अगर दांत पीसता है तो यह इस बात का संकेत हो सकता है कि उसे स्कूल में डराया धमकाया जा रहा है।

यह जानकारी एक हालिया अध्ययन में सामने आयी है। ब्रिटेन में दांतों के स्वास्थ्य के लिए काम करने वाली एक संस्था ने अध्ययन में पाया है कि जो किशोर धमकाये जाने से पीड]ित होते हैं उनके नींद में दांतों को पीसने की संभावना अधिक होती है। यह एक संकेत है जिससे माता-पिता को पीड]ित बच्चे की पहचान जल्दी करने में मदद मिल सकती है। ओरल रिहैबलिटेशन में प्रकाशित शोध में पाया गया है कि स्कूल में मौखिक रूप से प्रताड]ित किये जाने वाले किशोर में सोने के दौरान दांत पीसने की आदत करीब चार गुणा ा65 प्रतिशता अधिक होती है जबकि जो बच्चे प्रताड]ित नहीं होते हैं उनमें से केवल 17 प्रतिशत के दांत पीसने की आशंका होती है। स्लीप बुक्ढ्रिज्म तब होती है जब आप नींद में दांत पीसते हैं और इससे सिरदर्द, दांत गिरना और मुंह में कई तरह का दर्द और कई तरह का नुकसान सहित मुख से जुड़ी बड़ी समस्याएं हो सकती हैं।
शोधकर्ताओं ने माता-पिताओं, देखभाल करने वालों और स्कूलों से मुंह से जुड़ी हुयी शिकायत करने वाले छात्रों को लेकर सावधान रहने को कहा है क्योंकि बुक्ढ्रिज्म की समस्या इस बात का संकेत है कि उसे धमकाया जा रहा हो। ऐसे में उन्हें मुद्दे से निपटने में मदद मिलेगी।

Share it
Top