Top
Home » दुनिया » अब हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने चीन के कदमों को धोखा बताया

अब हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने चीन के कदमों को 'धोखा' बताया

👤 manish kumar | Updated on:25 May 2020 5:15 AM GMT

अब हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने चीन के कदमों को धोखा बताया

Share Post

नई दिल्ली । हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने कहा कि चीन ने अर्ध-स्वायत्त क्षेत्र पर नियंत्रण कड़ा करके शहर को धोखा दिया है।

क्रिस पैटन ने टाइम्स ऑफ लंदन के साथ एक साक्षात्कार में कहा, "हम जो देख रहे हैं वह एक नई चीनी तानाशाही है। मुझे लगता है कि चीन ने हांगकांग के लोगों को धोखा दिया है। जिसने एक बार फिर साबित कर दिया है कि आप उस पर ज्यादा भरोसा नहीं कर सकते।"

उन्होंने कहा कि ब्रिटिश सरकार को यह स्पष्ट करना चाहिए कि यह उस संयुक्त घोषणा का पूर्ण विनाश है, जिस कानूनी दस्तावेज के अंतर्गत 1997 में "एक देश, दो प्रणाली" ढांचे के तहत पूर्व ब्रिटिश उपनिवेश को चीन को वापस सौंपा गया था।

यह 2047 तक हांगकांग को अपनी कानूनी प्रणाली और पश्चिमी जीवन शैली कायम रखने की स्वतंत्रता देता है। लेकिन पिछले साल शहर में बड़े पैमाने पर लोकतंत्र समर्थक विरोध प्रदर्शनों को अधिकारियों द्वारा रोकने के बाद कई लोगों को भय है कि चीन अपने वादे से दूर हो रहा है।

पैटन का मानना ​​है कि "एक देश, दो प्रणालियाँ" संधि संयुक्त राष्ट्र से जुड़ी है। यह हांगकांग की पूंजीवादी अर्थव्यवस्था और इसके जीवन के तरीके की रक्षा के लिए पर्याप्त है। उन्होंने ब्रिटेन से आह्वान किया कि वह हांगकांग के लिये खड़ा हो और अपने कानूनी दायित्वों के तहत हांगकांग की रक्षा करे। उन्होंने कहा, "ब्रिटेन के पास हांगकांग के लिए खड़ा होने का नैतिक, आर्थिक और कानूनी कर्तव्य है।"

चीन ने पैटन की टिप्पणियों की आलोचना की है। चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि हांगकांग चीन का आंतरिक मामला है और "किसी भी विदेशी देश को हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है।" हिस

 नेपाल में हुए भूस्खलन में अभी भी लापता हैं 19 लोग

नेपाल में हुए भूस्खलन में अभी भी लापता हैं 19 लोग

नई दिल्ली। पश्चिमी नेपाल में लगातार हो रही बारिश के कारण विभिन्न स्थानों में हुए भूस्खलन के कारण कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई है। साथ ही 19 लोग...

 कोरोना के बाद कजाक वायरस से दुनिया को एक और खतरा

कोरोना के बाद कजाक वायरस से दुनिया को एक और खतरा

नई दिल्ली। कजाकिस्तान के वायरस को लेकर दुनिया में एक नया डर उत्पन्न हो रहा है। चीनी दूतावास ने कहा है कि यह कोरोना से भी खतरनाक वायरस है, इससे अब तक...

 शिक्षा मंत्रियों की राय, पाकिस्तान में सितम्बर से फिर से खुलने चाहिए स्कूल

शिक्षा मंत्रियों की राय, पाकिस्तान में सितम्बर से फिर से खुलने चाहिए स्कूल

नई दिल्ली । पाकिस्तान के प्रांतीय शिक्षा मंत्रियों का कहना है कि सितम्बर में देश में स्कूल फिर से खुलने चाहिए। इसके लिए अब राष्ट्रीय समन्वय समिति...

 नेपाल में बरपने लगा बाढ़ का कहर

नेपाल में बरपने लगा बाढ़ का कहर

नई दिल्ली। नेपाल के सिंधुपालचौक जिले में बाढ़ आने से 2 लोगों की मौत हो गई है और 18 लोग लापता हो गए हैं। पुलिस ने गुरुवार को इसकी पुष्टि की है। बाढ़...

 भारत और यूरोपीय संघ के बीच 15 जुलाई को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगा समिट

भारत और यूरोपीय संघ के बीच 15 जुलाई को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगा समिट

नई दिल्ली । भारत और यूरोपीय संघ के बीच 15 जुलाई को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए समिट होगा। इस दौरान क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा हो सकती...

Share it
Top