Top
Home » दुनिया » मलेशिया की सत्तारूढ़ पार्टी ने महाथिर की सदस्यता समाप्त की

मलेशिया की सत्तारूढ़ पार्टी ने महाथिर की सदस्यता समाप्त की

👤 manish kumar | Updated on:30 May 2020 8:02 AM GMT

मलेशिया की सत्तारूढ़ पार्टी ने महाथिर की सदस्यता समाप्त की

Share Post

नई दिल्‍ली। कश्मीर मुद्दे और नागरिकता संशोधन कानून पर भारत की तीखी आलोचना को लेकर चर्चा में आए मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद को संसदीय सत्र में विपक्ष के साथ बैठने को लेकर पार्टी से निकाल दिया गया है। एक रिपोर्ट में कहा गया कि सिर्फ महातिर ही नहीं बल्कि उनके समर्थकों को भी बर्खास्त किया गया है। इसमें उनके बेटे मुखरिज महातिर, पूर्व में युवा एवं खेल मंत्री सैयद सद्दीक सैय्यद अब्दुल रहमान, पूर्व शिक्षा मंत्री मस्जली मलिक और पूर्व उप-वित्त मंत्री अमीरुद्दीन हमजा शामिल हैं. महातिर को जिस राजनीतिक पार्टी से निकाला गया है, वो उसी के सह-संस्थापक रहे हैं।

18 मई को संसद के एक दिन के सत्र में पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद वह विपक्ष के साथ बैठे थे। पार्टी ने इसे अपने संविधान का उल्लंघन माना है। मलेशिया अधिकारी के मुताबिक पारति प्रिबूमि बेरसतु मलेशिया (पीपीबीएम) के सेक्रेटरी मोहम्मद सुहैमि याह्या ने महातिर को एक लेटर लिखा है। लेटर में बताया गया है कि महातिर की मेंबरशिप खत्म की जा रही है।

मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने पिछले साल संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण में भारत पर कश्मीर पर बलपूर्वक कब्जा करने का आरोप लगाया था। इस टिप्पणी को लेकर भारत में तीखी प्रतिक्रिया हुई और मलेशिया से खाद्य तेल के आयात पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया था। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद महातिर ने कहा था कि भारत ने जम्मू-कश्मीर पर कब्जा कर रखा है। भारत ने इसके बाद मेलिशिया से आयात किए जाने वाले खाद्य तेलों पर प्रतिबंध लगा दिया था. हालांकि बाद में खाद्य तेलों पर लगा प्रतिबंध भी भारत ने वापस ले लिया है।

Share it
Top