Top
Home » दुनिया » मां की डायबिटीज से बच्चे को जन्मजात विकृति या बीमारी का खतरा

मां की डायबिटीज से बच्चे को जन्मजात विकृति या बीमारी का खतरा

👤 Veer Arjun | Updated on:20 Sep 2021 9:27 AM GMT

मां की डायबिटीज से बच्चे को जन्मजात विकृति या बीमारी का खतरा

Share Post

वाशिंगटन। मां के गर्भावस्था में डायबिटीज होने पर पैदा होने वाले बच्चे के लिए जन्मजात विकृति या बीमारी का कारण बन सकता है। यह दावा एक नए अध्ययन में किया गया है। अध्ययन के निष्कर्ष साइंस एडवांस पत्रिका में प्रकाशित हुए हैं।

अध्ययनकर्ताओं के अनुसार महिलाओं में डायबिटीज तेजी से बढ़ रही है। दुनिया में छह करोड़ से ज्यादा महिलाएं डायबिटीज से पीड़ित हैं। अकेले अमेरिका में इनकी संख्या तीस लाख है।

डायबिटीज पीड़ित महिलाओं से पैदा होने वाले 3 से 4 लाख नवजात में दिमाग या रीढ़ की हड्डी में जन्मजात विकृति (न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट) विकसित हो जाती है। इसके अलावा गर्भपात या विकलांगता जैसे असर भी देखने को मिलते हैं।

यूनिवर्सिटी आफ मैरीलैंड स्कूल आफ मेडिसिन में हुए इस अध्ययन में महिलाओं के भ्रूण का अध्ययन किया गया। अध्ययनकर्ता डीन रीस ने बताया कि डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं के बच्चे पांच गुना ज्यादा जन्म दोष के साथ पैदा होने की आशंका रहती है। इसलिये डायबिटीज से पीड़ित माताओं में शुरूआत से ही इस पर नजर रखें और स्वस्थ जन्म देने के तरीकों को विकसित करें।

बच्चों में जन्म दोष के साथ पैदा होने में डायबिटीज के साथ ही खराब जीवन शैली और लापरवाही भी जिम्मेदार होती है। इसको लेकर भी सावधानी की पर्याप्त आवश्यकता है।

दुनिया में तेजी से फैल रही टाइप 2 डायबिटीज के बारे में एक नया अध्ययन सामने आया है। इस बीमारी को लेकर शोध करने वाली टीम ने जानकारी दी है कि आहार विशेषज्ञों की देखरेख में खानपान पर ध्यान रखकर डायबिटीज को पूरी तरह नियंत्रित किया जा सकता है। यह शोध यूनिवर्सिटी आफ ब्रिटिश कोलंबिया और टीसाइड यूनिवर्सिटी ने किया और नेचर कम्युनिकेशंस में प्रकाशित है। शोध करने वाली टीम ने 12 सप्ताह तक आहार विशेषज्ञों की देखरेख में अपने परिणामों को तैयार किया है। एजेंसी/हिस

Share it
Top