Top
Home » आपके पत्र » महिलाएं आज भी अपने अधिकारों से वंचित हैं

महिलाएं आज भी अपने अधिकारों से वंचित हैं

👤 | Updated on:22 July 2010 1:44 AM GMT
Share Post

महिलाओं के लिए समानता के बारे में बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं लेकिन समानता की बात तो दूर, यह आधी आबादी आज तक अपने बुनियादी अधिकारों से वंचित है और इन्हें पाने के लिए आवाज खुद उसे ही उ"ानी होगी। सामाजिक कार्यकर्ता नफीसा अली कहती हैं कि महिलाओं के लिए समान अधिकारों की बातें आज भी सपना है। उनके लिए जिम्मेदारी यह कह कर बढ़ा दी गई कि स्त्राr पुरुष दोनों ही बराबर हैं। लेकिन यह कोई नहीं देखता कि उनको दोहरी जिम्मेदारी का निर्वाह करना पड़ रहा है। वह कहती हैं कि महिलाएं नौकरी कर रही हैं। लेकिन घरों में उनके लिए कितनी सुविधाएं दी जाती हैं। घर के काम से यह कह कर उन्हें मुक्ति नहीं दी जाती कि घर की जिम्मेदारी महिलाओं को ही पूरी करनी है। इसके बाद का समय वह नौकरी के लिए देती हैं। उनके पास आराम, स्वास्थ्य से लेकर भविष्य की योजनाओं के लिए समय नहीं होता। अपना ही वेतन जोड़-तोड़ कर अगर वह मकान खरीदना चाहें तो पहले उन्हें इसके लिए घर वालों की अनुमति लेनी होती है। इस साल आ" मार्च को महिला दिवस के सौ साल पूरे हो रहे हैं। सेंटर फार सोशल रिसर्च की निदेशक और वीमन पावर कनेक्ट की अध्यक्ष रंजना कुमारी कहती हैं कि सौ साल हों या इससे अधिक समय हो, मानसिकता में बदलाव बहुत जरूरी है अन्यथा महिला दिवस अर्थहीन होगा।  रंजना कहती हैं कि विज्ञान के इस दौर में भी लड़कियों को बोझ माना जाता है और आए दिन उन्हें गर्भ में ही समाप्त कर देने के मामले सुनाई देते हैं। हर कदम पर लड़कियां खुद को साबित करती आ रही हैं फिर भी उन्हें लेकर सामाजिक सोच में बहुत ज्यादा बदलाव नहीं आया है। दिक्कत यह है कि महिला पर इतना दबाव डाला जाता है कि वह गर्भपात के लिए मजबूर हो जाती है। रामपाल शर्मा, नन्दनगरी, दिल्ली  

 पाकिस्तान में मंदिर को जमीन दी, पर मंदिर निर्माण में व्यवधान

पाकिस्तान में मंदिर को जमीन दी, पर मंदिर निर्माण में व्यवधान

नई दिल्ली। मुस्लिम समुदाय की ओर से मंदिर निर्माण का काम रोकने वाली याचिकाओं को इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया है। मुस्लिम समुदाय की तरफ से...

 नेपाल : एनसीपी की स्टैंडिंग कमिटी की बैठक 10 जुलाई तक फिर स्थगित

नेपाल : एनसीपी की स्टैंडिंग कमिटी की बैठक 10 जुलाई तक फिर स्थगित

नई दिल्ली। नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की स्टैंडिंग कमिटी की बैठक अब 10 जुलाई सुबह 11 बजे तक फिर स्थगित कर दी गई है। प्रधानमंत्री ओली के मीडिया सलाहकार...

 सीमा पर तस्करों को मारना बांग्लादेश को नागवार गुजर रहा है

सीमा पर तस्करों को मारना बांग्लादेश को नागवार गुजर रहा है

नई दिल्ली। बांग्लादेश की सरकार ने इस बात पर नाराज़गी जताई है कि आखिर भारतीय सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान उनके लोगों को गोली क्यों मार रहे हैं।...

 बांग्लादेश में रोहिंग्या मुसलमान बने सरदर्द, अब तक 50 तस्करों का हुआ एनकाउंटर

बांग्लादेश में रोहिंग्या मुसलमान बने सरदर्द, अब तक 50 तस्करों का हुआ एनकाउंटर

नई दिल्ली। म्यांमार से भागकर बांग्लादेश आए रोहिंग्या मुसलमान अब शेख हसीना की सरकार के लिए मुसीबत बन गए हैं। 5 जुलाई को रात को बाॅर्डर गार्ड ऑफ़...

 चीनी कम्पनियों का नया ठिकाना बन रहा है वियतनाम

चीनी कम्पनियों का नया ठिकाना बन रहा है वियतनाम

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में रियल एस्टेट उद्योग पिट रहा है, लेकिन चीन के पड़ोसी देश वियतनाम में रियल एस्टेट जबर्दस्त उछाल पर है। सबसे अधिक डिमांड...

Share it
Top