Home » आपके पत्र » केजरीवाल के दौरे

केजरीवाल के दौरे

👤 | Updated on:2016-05-17 00:37:39.0
Share Post

  दिल्ली के सीएम देश में कहीं कोई घटना घटे फट से वहां पर दौड़ पड़ते हैं हमदर्दी जताने के लिए। अच्छा है पर चूंकि यह राजनीति से प्रेरित है, इसलिए अच्छा नहीं लगता। कुछ माह पूर्व दिल्ली में एक पुलिस वाले की हत्या/मौत हो गई थी। केजरीवाल साहब ने फौरन ही एक करोड़ रुपए की सहायता घोषित कर दी। कोई पूछे केजरीवाल जी से कि पुलिस महकमा तो आपके अंडर है नहीं फिर पुलिस वाले के परिवार को एक करोड़ की क्षतिपूर्ति की राशि क्यों दी गई। यदि केजरीवाल जी की यह नीति ही बन गई है तो फिर हैदराबाद जाकर वहां के छात्र रोहित के परिवार को एक करोड़ की राशि क्यों नहीं दी? दिल्ली के एक करोड़ रुपए की सहायता विकासपुरी इलाके में हुए मर्डर के शिकार डाक्टर के परिवार को क्यों घोषित नहीं की गई? आखिर एक करोड़ रुपए की सहायता राशि देने का आधार क्या है जनता को पता तो चलना चाहिए। -इन्द्र सिंह धिगान, किंग्जवे कैंप, दिल्ली। राष्ट्र विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा दिया आश्चर्य है साम्यवादियों का गढ़ जेएनयू में नौ फरवरी 2016 को जो षड्यंत्र रचा उसका पर्दाफाश हो गया। दुख एवं आश्चर्य की बात है कि विद्यार्थियों को शिक्षा और संस्कार देने वाले गुरु शिक्षक-प्रोफेसरों ने ही विद्यार्थियों को उकसाया बजाय सही मार्ग दिखाने के राष्ट्र विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा दिया। जगद्गुरु शंकराचार्य जिनेन्द्र को तमिलनाडु पुलिस ने हैदराबाद से सोते हुए गिरफ्तार किया एक केस की तफ्तीश के लिए तब कामरेड श्री सीताराम येचुरी ने कहा था कि कानून से ऊपर कोई नहीं। अब यही कामरेड येचुरी जी एवं राजा सरकार को कोस रहे हैं। छात्रों पर अनुशासित कार्रवाई पर विरोध कर रहे हैं, जेएनयू में जो हुआ साम्यवादियों के लिए गलत नहीं। सजा के विरुद्ध श्री कन्हैया समेत छात्र भूख हड़ताल पर थे। गजब की बात है कि जेएनयू के टीचर्स ने भी भूख हड़ताल का समर्थन किया। समस्या बातचीत से भी हल हो सकती है। जेएनयू का माहौल बिगाड़ने में कुछ विदेशी फंडिंग से प्रेरित प्रोफेसर का भी हाथ है। सरकार को इस ओर ध्यान देना चाहिए। -बीएल सचदेवा, 263, आईएनए मार्पिट, नई दिल्ली। पेट की समस्याओं के लिए सौंफ बहुत फायदेमंद होती है सौंफ में कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं, जिनका सेवन करने से स्वास्थ्य को फायदा होता है। सौंफ हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद होती है। सौंफ में कैल्शियम, सोडियम, आयरन, पोटैशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं। सौंफ का फल बीज के रूप में होता है और इसके बीज को प्रयोग किया जाता है। पेट की समस्याओं के लिए सौंफ बहुत फायदेमंद होती है। आज हम आपको सौंफ से जुड़े कुछ फायदे बता रहे हैं। सौंफ खाने से पेट और कब्ज की शिकायत नहीं होती। सौंफ को मिश्री या चीनी के साथ पीसकर चूर्ण बना लीजिए, रात को सोते वक्त लगभग 5 ग्राम चूर्ण को हल्केस गुनगने पानी के साथ सेवन कीजिए। पेट की समस्या नहीं होगी व गैस व कब्ज दूर होगा। आंखों की रोशनी सौंफ का सेवन करके बढ़ाई जा सकती है। सौंफ और मिश्री समान भाग लेकर पीस लें। इसकी एक चम्मच मात्रा सुबह-शाम पानी के साथ दो माह तक लीजिए। इससे आंखों की रोशनी बढ़ती है। डायरिया होने पर सौंफ खाना चाहिए। सौंफ को बेल के गूदे के साथ सुबह-शाम चबाने से अजीर्ण समाप्त होता है और अतिसार में फायदा होता है। यदि आपको पेट में दर्द होता है तो सौंफ चबाइए। -सुरेश शर्मा, लक्ष्मीनगर, दिल्ली। फिट रहने के लिए फल व सब्जियां अनिवार्य सर्दियों में हेल्थ को फिट रखने के लिए काफी सारे ऑप्शन होते हैं, क्योंकि इस सीजन में फल और सब्जियों की भरमार होती है। सर्दियों में जितनी जल्दी वजन बढ़ता है, उतनी ही जल्दी आप डाइट कंट्रोल भी कर सकते हैं। आज हम आपको अमरूद के बारे में बताने जा रहे हैं, जो सस्ता और सेहत के लिहाज से बहुत ही फायदेमंद है। मुंह में छाले होने परः अगर आपके मुंह में छाले हो गए हैं या फिर अक्सर आपको माउथ अल्सर की प्रॉब्लम बनी रहती है तो आप अमरूद की नई-नई कोमल पत्तियों को सेवन करें। इससे आराम मिलता है। बॉडी को फिट रखने के लिए अमरूद खाएं। -विवेक सहगल, नारायणा, दिल्ली।    

Share it
Top