Home » छत्तीसगढ़ » छत्तीसगढ़ में जारी भारी बारिश से पदेश भर में नदियां, जलाशय हुए लबालब

छत्तीसगढ़ में जारी भारी बारिश से पदेश भर में नदियां, जलाशय हुए लबालब

👤 veer arjun desk 5 | Updated on:2018-08-27 14:05:27.0
Share Post

रायपुर, (ब्यूरो छत्तीसगढ़)। छत्तीसगढ़ में पिछले 30 घंटे से अधिक समय हो रही अनवरत बारिश से पदेश के नदियां, जलाशयों सहित तालाब व पुंए सभी लबालब हो गए है। कुछेक नदियां तो उफान पर है, जहां आसपास क्षेत्रों में बाढ़ का खतरा भी मंडराने लगा है।

पदेश में 25 अगस्त की देर शाम से शुरू हुई बारिश आज तीसरे दिन सोमवार को भी अनवरत जारी है। अनवरत हो रही भारी बारिश के कारण पदेश की सभी नदियों, जलाशयों सहित तालाबों व पुंए लबालब हो गए है।

कुछेक नदियों का जल स्तर खतरे के निशान के ऊपर बह रहा है, जिससे उन नदियों के आसपास कई गांवों में बाढ़ का खतरा भी मंडराने लगा है। इसमें गरियाबंद जिले में पैरी व सौंढूल नदी उफान पर चल रही है। जिससे कारण नेशनल हाइवे के पनटोर के पास सुबह से जाम लगा हुआ है। यहां तक बारिश का पानी सड़कों पर आ गया है जिसके चलते गरियाबंद-रायपुर मार्ग तक बंद हो गया है। भारी बारिश के कारण धमतरी जिले में गंगरेल बांध के तीन गेट आज फिर खोल दिया गया, जिसके कारण खारून नदी उफान पर बहने लगी है। राजधानी रायपुर में महादेव घाट में खारून नदी का पानी भी पुल के काफी करीब आ गया है। हालात यह है कि महादेव घाट के पास कब्रिस्तान के बाजू से गुजरी सड़क पानी का तेज बहाव बह रहा है जिससे इस मार्ग पर आवागमन भी बंद हो गया है। रायपुर, धमतरी व गरियाबंद के अलावा पदेश के अन्य जिलों की नदी व जलाशय भी लबालब हो गए है। बस्तर संभाग की कुछ नदियां भी खतरे के निशान से ऊपर चल रही है।

जिससे इन नदियों के आसपास के कई गांवों में भी बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है।भारी बारिश से राजधानी के कई इलाकों की सड़कें ने लिया तालाब का रूप, कहीं आवागमन पभावित तो कहीं लगा लंबा जामः भारी बारिश से राजधानी का जनजीवन भी काफी असर पड़ा। शहर के ज्यादातर इलाको की नाले-नालियों से लेकर सड़के लबालब हो गई है।

Share it
Top