Home » छत्तीसगढ़ » मोदी ने स्मार्ट शहर नया रायपुर की तारीफ की

मोदी ने स्मार्ट शहर नया रायपुर की तारीफ की

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:2018-06-24 14:06:04.0
Share Post

रायपुर, (छत्तीसगढ़, ब्यूरो)। पधानमंत्री नरेन्द मोदी ने स्वच्छता सर्वेक्षण के राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए आज मध्यपदेश के इंदौर में आयोजित कार्यत्रढम में छत्तीसगढ़ की नया रायपुर स्मार्ट सिटी परियोजना की जमकर तारीप की। उन्होंने कहा-देश के 100 शहरों को स्मार्ट बनाने का काम तेज गति से चल रहा है। अभी कुछ दिनों पहले मैं मध्यपदेश के पड़ोस में छत्तीसगढ़ में देश की पहली स्मार्ट सिटी नया रायपुर में था। नया रायपुर में इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर का उदघाटन किया था। यह बेहतरीन सिस्टम है, जहां एक ही जगह से पूरे शहर की व्यवस्था का संचालन किया जाता है। बिजली, पानी, ट्रांसपोर्ट इस पर निगरानी का काम सिर्प एक ही जगह से ऑपरेट किया जाता है।

उल्लेखनीय है कि पधानमंत्री मोदी ने लगभग दस दिन पहले इस महीने की 14 तारीख को नया रायपुर में इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर का लोकार्पण किया था। केन्द सरकार की स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत नया रायपुर में यह देश का पहला एकीकृत कमाण्ड एवं नियंत्रण केन्द है। पधानमंत्री ने इसका लोकार्पण करते हुए कहा था कि नया रायपुर का यह केन्द देश के अन्य स्मार्ट शहरों के लिए भी रोल मॉडल बनेगा। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सहित नया रायपुर विकास पाधिकरण (एनआरडीए) के सभी पदाधिकारियों को बधाई दी थी। उल्लेखनीय है कि नया रायपुर देश का पहला ऐसा स्मार्ट शहर है, जिसने बिजली, पानी, सड़क, संचार और स्वच्छता जैसी नागरिक सुविधाओं की ऑनलाइन निगरानी के लिए और इन सेवाओं से जुड़ी अपनी जनसमस्याओं के निराकरण के लिए एकीकृत कमांड एवं नियंत्रण केन्द की स्थापना की है।

लोकार्पण के बाद पधानमंत्री ने इस केन्द में बैठकर इसके संचालन की गतिविधियों को और पूरी पत्रिढया को बारीकी से देखा था। नया रायपुर विकास पाधिकरण के अध्यक्ष अमन कुमार सिंह ने पस्तुतिकरण देते हुए उन्हें बताया था कि इस सेंटर के जरिए बिजली, पानी, स्वच्छता, यातायात पबंधन, एकीकृत भवन पबंधन, सिटी कनेक्टिविटी एवं इंटरनेट अधोसंरचना (डाटा सेंटर) और सम्पूर्ण नया रायपुर शहर की निगरानी की जा सकेगी। उन्होंने बताया कि शहर की परिवहन व्यवस्था, बिजली एवं जल आपूर्ति, स्ट्रीट लाईट और आधारभूत सुविधाओं से जुड़ी पत्येक व्यवस्था की निगरानी चौबीसों घंटे की जा सकेगी।

वर्तमान में भूमि खरीद, किसी पकरण की शिकायत अथवा नो ओब्जेक्शन सर्टिपिकेट आदि पाप्त करने के लिए ऑपलाइन आवेदन दिया जाता है। जिससे समय की कापी हानि होती है। सीसीसी व्यवस्था के शुरू हो जाने से ये सभी सुविधाएँ नागरिकों को केवल एक क्लिक में उपलब्ध हो सकेंगी। शहर में लगे सभी सेंसर्स जैसे पब्लिक ट्रांसपोर्ट बसों में लगे जीपीएस सेन्सर्स, डायल 100 वाहन की स्थिति, 108 एम्बुलेंस की स्थिति, स्मार्ट लाईटिंग, ट्रैपिक मैनेजमेंट कैमरे, पब्लिक बाईक शेयरिंग, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, मौसम विभाग, सोलर पैनल्स, स्मार्ट मैप इत्यादि व्यवस्थाओं एवं परियोजनाओं का डाटा यहाँ स्टोर होगा।

Share it
Top