Top
Home » दिल्ली » पेट में हेरोइन छिपाकर लाये अफगानी गिरफ्तार

पेट में हेरोइन छिपाकर लाये अफगानी गिरफ्तार

👤 Veer Arjun | Updated on:12 Jan 2020 1:20 PM GMT

पेट में हेरोइन छिपाकर लाये अफगानी गिरफ्तार

Share Post

पेट में हेरोइन छिपाकर लाये अफगानी गिरफ्तारपेट में हेरोइन छिपाकर लाये अफगानी गिरफ्तारनई दिल्ली । अफगानिस्तान से मेडिकल वीजा पर भारत आने वाले सात लोगों को एयरपोर्ट के पास से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने गिरफ्तार किया है। इनके पेट से हेरोइन के कैप्सूल निकले है। जिनमें 1.623 ग्राम हेरोइन भरी हुई थी। दिल्ली में मौजूद इनके दो साथियों को भी एनसीबी ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान यूसुफजई रहमतुल्लाह, फैज मोहम्मद, नबीजदा हबीबुल्ला, अहमद अब्दुल, तुर्कमान अब्दुल, फजल अहमद, नूर कबीर, हयातुल्लाह और मसूद महमूद के रूप में की गई है।

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल डायरेक्टर केपीएस मल्होत्रा के अनुसार, उनकी टीम ड्रग्स के खिलाफ लगातार अभियान चला रही है। इस दौरान उन्हें सूचना मिली कि अफगानिस्तान से कुछ यात्री अपने पेट में हेरोइन छुपाकर ला रहे हैं। यहां आकर वह हेरोइन की खेप को अपने साथियों देंगे। इस सूचना पर सुनील कुमार, आदेश प्रकाश और नीरज की टीम ने एयरपोर्ट के पास ट्रैप लगाया। उन्हें पता चला कि यह लोग काबुल से कंधार होते हुए आएंगे। उन्होंने एयरपोर्ट के पास से सात लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया।

कुल 9 आरोपियों को किया गिरफ्तार

एनसीबी की टीम ने मौके पर मौजूद यूसुफजई और फैज मोहम्मद ने टीम को बताया कि उन्हें अफगानिस्तान से भेजा गया है। यहां उन्हें अफगानिस्तान के रहने वाले हयातुल्लाह से मिलना था। वहां से पुलिस ने हयातुल्लाह को भी पकड़ लिया। इनसे हुई पूछताछ के बाद एनसीबी ने मसूद अहमद को गिरफ्तार किया जो लाजपत नगर में रहता है। पकड़े गए सभी अफगानी नागरिकों का सफदरजंग अस्पताल में मेडिकल कराया गया। जिसमें पता चला कि उनके पेट में कुछ संदिग्ध सामान रखा हुआ है। इनके पेट से कुल 177 कैप्सूल निकाले गए जिनमें 1.623 किलोग्राम हेरोइन रखी हुई थी। वहीं पूछताछ में अफगानी ने बताया कि यहां हेरोइन लाने के लिए उन्हें पैसे मिले थे। वहीं जांच में पता चला है कि हयतुल्लाह और मसूद अहमद भारत में बैठकर ड्रग्स का यह कारोबार संभाल रहे थे।

मेडिकल वीजा पर आये थे भारत

एनसीबी की पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वह मेडिकल वीजा पर भारत आये थे। अफगानिस्तान में ड्रग्स के कैप्सूल अपने पेट में डालकर वह भारत आते हैं और यहां आकर उसे निकाल लेते हैं। इस पूरे गैंग का सरगना अफगानिस्तान में बैठा एक व्यक्ति है। यहां पर यह ड्रग्स नाइजीरिया के रहने वाले तस्करों को दी जाती है जो इसे आगे बेच देते हैं। (हि.स.)।

Share it
Top