Top
Home » संपादकीय » विपक्ष के साथ-साथ अपनों ने भी दी चेतावनी

विपक्ष के साथ-साथ अपनों ने भी दी चेतावनी

👤 Veer Arjun Desk | Updated on:7 Sep 2018 5:44 PM GMT

विपक्ष के साथ-साथ अपनों ने भी दी चेतावनी

Share Post

पेट्रोल-डीजल और गैस की बेतहाशा बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर विपक्ष के निशाने साधने के साथ-साथ अब तो उनके अपने गठबंधन में शामिल कुछ दल भी नाराज हो गए हैं। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में उछाल और डॉलर के मुकाबले रुपए में रिकॉर्ड गिरावट से आयात महंगा हो जाने की वजह से पिछले दस दिनों से पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं। आम आदमी पार्टी के संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने और रुपए की कीमत गिरने पर मनमोहन सरकार पर कड़े प्रहार करते थे लेकिन अब वैसी ही परिस्थितियां उनकी सरकार के कार्यकाल में आईं तो वह मौन साधे हुए हैं। चार साल तक मोदी सरकार में शामिल रही तेलुगूदेशम पार्टी के प्रमुख और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चन्द्रबाबू नायडू ने कहा कि वह दिन दूर नहीं है जब देश में पेट्रोल के दाम 100 रुपए प्रति लीटर को छू लेंगे और एक डॉलर की कीमत भी 100 रुपए तक पहुंच जाएगी। वाजपेयी सरकार में वित्तमंत्री रहे यशवंत सिन्हा ने विपक्षी दलों से कीमतों में वृद्धि के खिलाफ सड़कों पर उतरने का आह्वान किया है। उन्होंने मंगलवार को ट्वीट पर लिखाöपेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की कीमतों में लगातार वृद्धि हो रही है और दाम रोजाना नए रिकॉर्ड पर पहुंच रहे हैं। राजग के सहयोगी जनता दल (यू) के महासचिव केसी त्यागी ने ईंधन के बढ़ते दामों पर तुरन्त रोक लगाने के लिए सरकार से हस्तक्षेप की मांग की है। केंद्र सरकार में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर चिन्ता जताई है। पेट्रोल और डीजल की आसमान छू रहीं कीमतों के खिलाफ कांग्रेस सड़कों पर उतरने और देशव्यापी आंदोलन शुरू करने की रणनीति पर विचार कर रही है। कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पेट्रोल-डीजल की बेतहाशा वृद्धि से देश का आम नागरिक परेशान है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार लोगों की कमर तोड़ने के लिए लगातार कुठाराघात कर रही है। वहीं मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से उपभोक्ताओं को किसी प्रकार की राहत देने से साफ मना कर दिया। सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि राहत देने के लिए उत्पाद शुल्क में किसी प्रकार की कटौती की संभावनाएं कम हैं। सरकार ने कहा कि राजस्व वसूली में किसी भी तरह की कटौती की गुंजाइश नहीं है। पेट्रोल और डीजल में आई तेजी और उपभोक्ताओं को इसकी मार से बचाने के लिए उत्पाद शुल्कों में कटौती की मांग सरकार ने सिरे से खारिज कर दी।

 कतर में कोरोना के कारण 3 अन्य मौतें, 1751 नए मामले दर्ज

कतर में कोरोना के कारण 3 अन्य मौतें, 1751 नए मामले दर्ज

नई दिल्ली । कतर के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार को कोरोना के कारण 3 अन्य लोगों की मौत और 1751 नए संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं।इसके बाद...

 यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक का चीन के प्रति मजबूत रणनीति का आग्रह

यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक का चीन के प्रति मजबूत रणनीति का आग्रह

नई दिल्ली। यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक ने चीन के प्रति 'अधिक मजबूत रणनीति' रखने का आह्वान किया है क्योंकि वह एशिया वैश्विक शक्ति के केंद्र के रूप में ...

 रूस में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 3,50,000 के पार हुई

रूस में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 3,50,000 के पार हुई

नई दिल्ली । रूस में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 8,946 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 353,427 हो गई है।...

 अब हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने चीन के कदमों को धोखा बताया

अब हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने चीन के कदमों को 'धोखा' बताया

नई दिल्ली । हांगकांग के अंतिम ब्रिटिश गवर्नर ने कहा कि चीन ने अर्ध-स्वायत्त क्षेत्र पर नियंत्रण कड़ा करके शहर को धोखा दिया है।क्रिस पैटन ने टाइम्स ऑफ...

 कोरोनावायरस संकट के बाद पहली बार ट्रम्प गोल्फ कोर्स पहुंचे

कोरोनावायरस संकट के बाद पहली बार ट्रम्प गोल्फ कोर्स पहुंचे

नई दिल्ली । अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प कोरोनावायरस संकट शुरू होने के दो महीने बाद पहली बार गोल्फ खेलने के लिये गोल्फ क्लब पहुंचे। ट्रंप का...

Share it
Top