Home » संपादकीय » भगोड़े नीरव मोदी पर कसता कानूनी शिकंजा

भगोड़े नीरव मोदी पर कसता कानूनी शिकंजा

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:2019-03-15T00:35:50+05:30
Share Post

पंजाब नेशनल बैंक के 13,700 करोड़ रुपए लेकर भागा नीरव मोदी पर धीरे-धीरे शिकंजा कसता जा रहा है। एक ओर जहां उसका मुंबई के समुद्र तट पर 30,000 वर्ग फुट स्थित बंगला कुछ ही मिनटों में विस्फोटक इस्तेमाल करके ध्वस्त कर दिया गया, वहीं एक अखबार द टेलीग्राफ के रिपोर्टर ने उसे लंदन में ढूंढ लिया और उससे सड़क पर ही सवाल पूछे। मोदी पिछले 14 महीने से छिपा हुआ था। नीरव मोदी का जो आलीशान बंगला विस्फोटक से गिराया गया उसकी कीमत 40 करोड़ रुपए आंकी गई है। ईडी ने बताया कि बंगले के सामान की नीलामी की जाएगी। तीन वस्तुओं जिनमें जकूजी, झूमर और बुद्ध की प्रतिमा है, को अलग रखा गया है। जकूजी की कीमत 15 लाख, झूमर 20 लाख और बुद्ध की प्रतिमा की कीमत 10 लाख रुपए आंकी गई है। लंदन में नीरव मोदी वेस्ट एंड ए इलाके में जो लंदन के आलीशान इलाकों में से है, में खुलेआम एक अपार्टमेंट में रह रहा था। ब्रिटिश अखबार द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक नीरव मोदी सोलो में ऑफिस चला रहा है। वह हीरों का ही कारोबार करता है, लेकिन ब्रांडनेम बदल लिया है। वह जनवरी 2018 में इंग्लैंड पहुंचा था। जुलाई में उसके खिलाफ इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस जारी हुआ। इससे पहले ही मई में वहां नया बिजनेस शुरू कर दिया। घुमावदार मूंछ में दिखा, शुतुरमुर्ग के चमड़े की नौ लाख रुपए की जैकेट पहने नीरव से द टेलीग्राफ के रिपोर्टर ने सड़क पर घेर कर सवाल पूछने शुरू कर दिए। नीरव टैक्सी की तलाश में इधर-उधर चलता रहा। हर सवाल पर नो कमेंट्स कहते हुए उसने सात-आठ सवालों को टाल दिया। हर सवाल का एक ही उत्तर थाöनो कमेंट्स। नीरव मोदी अपना हुलिया बदल चुका है। उसने घुमावदार मूंछ रखी है, काले रंग की जैकेट पहन रखी थी, जो शुतुरमुर्ग के चमड़े से बनी है। उसकी कीमत नौ लाख रुपए बताई जा रही है। वह जिस अपार्टमेंट में रहता है उसकी कीमत 80 लाख पाउंड (करीब 73 करोड़ रुपए) और मासिक किराया 17 हजार पाउंड (15.5 लाख रुपए) आंका गया है। ब्रिटेन के गृहमंत्री ने बैंक कर्ज धोखाधड़ी के आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी शुरू करने के लिए उसे प्रत्यर्पित करने को भारत के अनुरोध को हाल ही में एक अदालत को भेजा है। प्रवर्तन निदेशालय के प्रवक्ता ने शनिवार को यह जानकारी दी। ईडी ने अपने बयान में कहा कि नीरव मोदी को भारत प्रत्यर्पित करने का अनुरोध जुलाई 2018 में ब्रिटेन भेजा गया था। ब्रिटेन के गृह कार्यालय के केंद्रीय प्राधिकरण ने पुष्टि की है कि प्रत्यर्पण के अनुरोध को वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत को भेज दिया गया है ताकि डिस्ट्रिक्ट जज आगे की कार्रवाई करे। सीबीआई ने शनिवार को कहा कि अपने रिश्तेदार मेहुल चोकसी के साथ मिलकर पंजाब नेशनल बैंक में 13 हजार करोड़ रुपए की धोखाधड़ी मामले में वांछित भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए ब्रिटेन के अधिकारियों को हर जरूरी सहायता उपलब्ध कराएगी। धीरे-धीरे ही सही नीरव मोदी, मेहुल चोकसी की भगोड़ा जोड़ी पर कानूनी शिकंजा कसता जा रहा है। इससे और अन्य भगोड़ों पर भी असर पड़ेगा। कानून का शिकंजा धीरे-धीरे सब पर मजबूती से कसता जा रहा है।

-अनिल नरेन्द्र

Share it
Top