Home » हरियाणा » सहकारी चीनी मिल भाली में बाहरी क्षेत्र का गन्ना नहीं लिया जाएगा : पबंध निदेशक

सहकारी चीनी मिल भाली में बाहरी क्षेत्र का गन्ना नहीं लिया जाएगा : पबंध निदेशक

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:2018-05-12 15:09:36.0
Share Post

रोहतक (तारीफ शर्मा) । दी हरियाणा सहकारी चीनी मिल भाली आनंदपुर रोहतक के पबंध निदेशक पदीप अहलावत ने सुबह-सवेरे एक विशेष सर्च ओपेशन चलाकर आज कैन यार्ड में खडीं गन्ने की ट्रोलियो का औचक निरिक्षण किया तो मिल से बाहरी क्षेत्र से आई अनेको ट्रोलिया पकडी उन्हे तो कैन यार्ड के बाहर का रास्ता दिखाया ही बल्के तुरंत पभाव से गन्ना विभाग के कई कर्मियो कोअपने कार्य के पति लापरवाही एंव कौताही बरतने पर निल बत (संसपैंड) कर दिया और अनेको कर्मियो को चार्जशीट करते हुए भविष्य के लिये सचेत रहने के कड़े निर्देश दिये । पबंध निदेशक पदीप अहलावत ने बतलाया कि मिल के क्षेत्र का लगभग एक-डेढ लाख किंवटल गन्ना शेष बचा है जिसकी कि पिराई का कार्य जल्द ही पूरा हो जायेगा । जिससे कभी भी किसी भी समय मिल को बन्द किया जा सकता है। उन्होने स्पस्ट किया कि बाहरी क्षेत्र का गन्ना बिल्कुल नही लिया जायेगा । क्योकि उन्हे पता लगा है कि कुछ चालाक किस्म मे लोग बाहरी क्षेत्र से सस्ते भाव में गन्ना खरीद कर हमारे किसानो के बौंड पर इस मिल में गन्ना सप्लाई करने के पयासो में लगे हुए ताकि मिल को आर्थिक हानि पहुंचा कर खुद साहुकार बनने के फिराक में है मगर वे किसी भी कीमत पर उनव ाs उनके मनसूबो में पूरा नही उतरने देगे । तथा वे ऐसी काली भेढ़ो का पता लगाकर उन पर अवश्य कठोर कार्यवाही करेगे। उन्होने आगे कहा कि उन्होने कडंक सर्दी के मौसम में भी दिन-रात कडी मेहनत कर मिल की आर्थिक स्थिति को सुधारने के कड़े पयास किये है। इसीलिये मिल के इतिहास मे इस मिल ने पिराई व रिकार्ड चीनी का उत्पादन किया है। इस सीजन 2017-18 को उन्होने मिल को और सीजनो की अपेक्षा एक माह पहले चलाया अब इसे चलते आज 193 दिन हो गये है और इन दिनो में मिल ने लगभग सवा बैसठ लाख किंवटल गन्ने की पिराई कर सवा छ लाख के करीब चीनी का उत्पादन किया है।

Share it
Top