Home » देश » उप्र में योगी सरकार ने 7 पीपीएस अफसरों को जबरन किया रिटायर

उप्र में योगी सरकार ने 7 पीपीएस अफसरों को जबरन किया रिटायर

👤 manish kumar | Updated on:7 Nov 2019 8:21 AM GMT

उप्र में योगी सरकार ने 7 पीपीएस अफसरों को जबरन किया रिटायर

Share Post

लखनऊ । भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सात पीपीएस अफसरों को जबरन रिटायर कर दिया है। योगी सरकार ने प्रदेश के भ्रष्ट अधिकारियों की लिस्ट तैयार की है। इस लिस्ट में लगभग छह सौ अधिकारियों के नाम हैं। इन अधिकारियों के साथ ही चार सौ अधिकारियों को कर्मचारियों को चेतावनी जारी की गई है कि उनके खिलाफ सख्त ऐक्शन लिया जा सकता है। योगी सरकार इससे पहले भी कई अधिकारियों को जबरन रिटायर कर चुकी है।

अनिवार्य सेवानिवृत्ति पाने वाले पीपीएस अधिकारियों में सहायक सेनानायक 15 वीं वाहिनी पीएसी आगरा में कार्यरत अरुण कुमार, जनपद फैजाबाद में पुलिस उपाधीक्षक रहे विनोद कुमार गुप्ता, जनपद आगरा रहे में पुलिस उपाधीक्षक रहे नरेन्द्र सिंह राणा, पीएसी झांसी में सहायक सेनानायक रहे रतन कुमार यादव, मुरादाबाद में मंडलाधिकारी रहे संतोष कुमार सिंह, 27 वीं वाहिनी पीएसी सीतापुर में कार्यरत रहे तेजवीर सिंह यादव और 30 वीं पीएसी वाहिनी गोण्डा में सहायक सेनानायक रहे तनवीर अहमद खान के नाम शामिल हैं।

प्रदेश सरकार को इन सभी अधिकारियों के बारे में गम्भीर शिकायतें मिल रही थी जिसमें भ्रष्टाचार की ज्यादा शिकायतें थीं। गृह विभाग की समीक्षा के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्ट और नाकारा पुलिसकर्मियों को जबरन सेवानिवृत्ति देने के निर्देश दिए थे। उसके बाद एडीजी स्थापना पीयूष आनन्द ने सभी इकाइयों और जिलों में बनाई गई स्क्रीनिंग कमिटी की रिपोर्ट तलब की। इसके बाद योगी सरकार ने भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ ऐक्शन लेना शुरू किया।

पिछले 2 वर्षों में योगी सरकार विभिन्न विभागों के 200 से ज्यादा अफसरों और कर्मचारियों को जबरन रिटायर कर चुकी है। इन दो वर्षों में योगी सरकार ने 400 से ज्यादा अफसरों, कर्मचारियों को निलंबन और डिमोशन जैसे दंड भी दिए हैं। इतना ही नहीं, इस कार्रवाई के अलावा 150 से ज्यादा अधिकारी अब भी सरकार के रडार पर हैं। गृह विभाग में सबसे ज्यादा 51 लोगों को जबरन रिटायर किए गए थे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 50 साल की उम्र में ही सुस्त अधिकारियों को रिटायरमेंट देने का ऐलान जुलाई में किया था। इसके तहत कई बड़े अफसरों के साथ कर्मचारी भी रडार पर आए हैं।

 कल्याणकारी नीतियां लागू करने वाली सरकार बनाएंगे गोटबाया

कल्याणकारी नीतियां लागू करने वाली सरकार बनाएंगे गोटबाया

कोलंबो । राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद गोटबाया राजपक्षे ने सोमवार को कहा कि वह लोकहित की नीतियों को लागू करने वाली सरकार का गठन करेंगे, ताकि देश...

 ट्रम्प को राष्ट्रपति चुनाव में हराना आसान नहीं

ट्रम्प को राष्ट्रपति चुनाव में हराना आसान नहीं

लॉस एंजेल्स । अमेरिकी प्रांत लूजियाना में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के रिपब्लिकन उम्मीदवार एडी रिसपोने की लगातार दूसरी बार हार और डेमोक्रेट उम्मीदवार...

 श्रीलंका के अगले राष्ट्रपति होंगे गोताबाया राजपक्षे

श्रीलंका के अगले राष्ट्रपति होंगे गोताबाया राजपक्षे

कोलंबो । श्रीलंका के पूर्व रक्षा मंत्री एवं श्रीलंका पीपुल्स फ्रंट के उम्मीदवार गोताबाया राजपक्षे देश के अगले राष्ट्रपति होंगे। श्रीलंका में...

 श्रीलंका में राष्ट्रपति उम्मीदवार गोतबाया राजपाक्षे मतगणना में आगे

श्रीलंका में राष्ट्रपति उम्मीदवार गोतबाया राजपाक्षे मतगणना में आगे

कोलंबो । ईस्टर पर हुए आतंकी हमले के बाद श्रीलंका में हुए राष्ट्रपति चुनाव के लिए शनिवार को मतदान हुआ। मतों की गिनती रविवार सुबह शुरू हुई। प्राप्त...

 महाभियोग : ट्रंप ने कहा- मैने कुछ गलत नहीं किया

महाभियोग : ट्रंप ने कहा- मैने कुछ गलत नहीं किया

वाशिंगटन । अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने विरुद्ध चल रही महाभियोग की कार्रवाई को देश के इतिहास में दोहरा मापदंड अपनाने वाला बताते हुए...

Share it
Top